दुनिया का सबसे छोटा देश, जहां रहते हैं सिर्फ 27 लोग!

0
11

क्या आप किसी ऐसे देश के बारे में जानते हैं, जहां पर रहने वाले लोगों की कुल जनसंख्या सिर्फ 27 हो? अगर नहीं जानते तो बता दें कि ऐसा एक देश इंग्लैंड के पास स्थित है, जिसका नाम सीलैंड है। इंग्लैंड के सफोल्क समुद्री तट से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित सीलैंड खंडहर हो चुके समुद्री किले पर स्थित है, जिसे दूसरे वर्ल्ड वॉर के दौरान ब्रिटेन ने बनाया था। हालांकि, बाद में खाली कर दिया।


 

माइक्रो नेशन कहे जाने वाले सीलैंड पर अलग-अलग लोगों का कब्जा रहा। हालांकि, 9 अक्टूबर 2012 को रॉय बेट्स नाम के शख्स ने खुद को सीलैंड का प्रिंस घोषित कर दिया। रॉय बेट्स की मौत के बाद से इस पर उनके बेटे माइकल का शासन है। बता दें कि माइक्रो नेशन वे छोटे देश कहलाते हैं, जिन्हें इंटरनेशनल मान्यता नहीं मिली हुई होती है। सीलैंड का क्षेत्रफल 250 मीटर (0.25 किलोमीटर) ही है। खंडहर हो चुके इस किले को सीलैंड के साथ-साथ रफ फोर्ट के नाम से भी जाना जाता है।

डोनेशन से चलती अर्थव्यवस्था

सीलैंड का क्षेत्रफल काफी कम है, ऐसे में इसके पास आजीविका का कोई साधन नहीं है। ऐसे में जब पहली बार इंटरनेट के जरिए लोगों को इसके बारे में पता चला तो उन्होंने खूब डोनेशन दिया। इससे यहां रहने वाले लोगों को आर्थिक मदद मिली। बता दें कि फेसबुक पर प्रिंसिपैलिटी ऑफ सीलैंड के नाम से इस छोटे देश का एक पेज भी बना है, जिसे लगभग 92 हजार लोगों ने लाइक किया है। वहीं, अब इस छोटे देश की सैर पर अच्छे खासे टूरिस्ट भी पहुंच रहे हैं।

मान्यता प्राप्त सबसे छोटा देश है वेटिकन सिटी

सीलैंड को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता नहीं मिली है। इस कारण से दुनिया का सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी है, जिसका क्षेत्रफल 0.44 वर्ग किलोमीटर है। यहां की जनसंख्या 800 है। हालांकि, दिन में इस देश में काम करने वाले लोगों की संख्या 1000 है। यहां पर कई शानदार इमारतें भी हैं, जो लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचती हैं।

Post From : Bhaskar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here