हवाई जहाज की खिड़कियां क्यों होती हैं गोल? नहीं पता , आइये हम बताते है इसका जवाब

0
507

हवाई जहाज अरे वही जो हवा में उड़ता है जिसे अंग्रेजी में ऐरोप्लने कहते है, उसमे तो आप कही बार बेठे होंगे और नहीं भी बेठे हो तो घबराने वाली कोई बात नहीं है, कभी देखा तो होगा कम से कम टीवी या फोटो में ही सही ! बात उसमे बेठने या नहीं बेठने की नहीं है, बात ये की आप ने उसे देख कर कभी सोचा है की इसकी खिड़कियां गोल या अंडाकार क्यों होती है । नहीं ना और सोचा भी होगा तो उसका जवाब आप को नहीं मिला होगा …तो चलिए आज हम आप को इसके बारे में बताते है ..


1950 में जब हवाई जहाज से लोगों ने आना जाना  शुरु किया तो उस समय एरोप्लेन की खिड़कियां चौकोर हुआ करती थीं।  लेकिन 1953 में जब 2 एरोप्लने क्रैश हुए थे, जिसमें 56 लोगों की जान चली गयी थी। हवाई जहाज के क्रैश होने की वजह चौकोर खिड़कियां मानी गई थी।

एक्सपर्ट्स का मानना था की खिड़किया चोकोर होने की वजह से कमजोर हो जाती है क्यों की उसकी इस डिजाइन में चार कमजोर स्पॉट्स होंगे और जेसे ही उन पर प्रेशर पड़ेगा वे हवा में चटक सकते है ।

इस वजह से खिड़कियों को गोलाकार या कोनों को घुमावदार बनाया जाता है, जिससे प्रेशर वितरित हो जाता है और खिड़कियों के क्षतिग्रस्त होने की संभावना कम हो जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here