जानिए क्यों पहनते है मोदी के सुरक्षा गार्ड काला चश्मा………

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा की जिम्‍मेदारी उनके बॉडीगार्ड के ऊपर ही तो होती है। ये सुरक्षा कर्मी हमेशा काला कोट-पैंट पहने और काला चश्‍मा लगाए उनके चारो और घुमते रहते है, लेकिन क्या कभी आपने सोचा है आखिर ये काला चश्‍मा ही क्‍यों पहनते हैं। यह कोई स्टाईल नहीं बल्कि दुश्‍मन को धोखा देने का तरिका है तो आईये आपको बतातें है आखिर यह गार्ड क्यों पहनते है सिर्फ काला चश्मा ……

1.विस्‍फोट के दौरान रहते हैं सुरक्षित ~
छोटी तीव्रता वाले विस्फ़ोट होने की स्थिति में इन्हें पहन कर आंखों को बचाया जा सकता है। इन ग्लासेस को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि गार्ड ब्लास्ट्स या हमला होने की स्थिति में भी चीजों को साफ साफ देख सके |

2. सूरज की तेज रोशनी से करता है बचाव ~
डार्क सनग्लासेस सुरक्षाकर्मियों को सूरज की तीखी किरणों से बचाता है। इसके अलावा ये आंखों को ब्लैक टोन प्रदान करते हैं। इनकी मदद से बॉडीगार्ड्स, तीखी सूरज की किरणों के बावजूद आंखों को कम झपकाते हैं और इससे उन्हें अपने टार्गेट पर फ़ोकस करने में मदद मिलती है।

 

3.हमलावर को गुमराह करने में ~
काला चश्‍मा दुश्‍मन को गुमराह करने के काम भी आता है। आंखे ढकी रहने की वजह से यह कोई नहीं जान पाता कि सुरक्षा गार्ड की नजरें किस तरफ हैं,बस यहीं पर हमलावर धोखा खा जाते हैं |

4.मनोवैज्ञानिक कारण~
जब भी कोई हमला या विस्‍फोट होता है। तो इंसान की सबसे पहली प्रतिक्रिया होती है आंख बंद कर लेने की,चूंकि इन सनग्लासेस में प्रोटेक्शन लेयर होती है, ऐसे में किसी विस्फ़ोट के दौरान सुरक्षाकर्मी इन ग्लासेस के सहारे आंखें खुली रख सकते हैं

5.असमय हमलों से सुरक्षा ~
सुरक्षा गार्ड का काला चश्‍मा पहनने का सबसे मुख्‍य कारण है कि वह किसी भी परिस्‍थिति में दुश्‍मन का सामना कर सकें। कहीं बहुत तेज रोशनी है, या धूल या फिर कोहरा, काला चश्‍मा पहनने से सबकुछ साफ-साफ नजर आता है।

Add a Comment