जानिए आखिर क्यों बढ़ते है हमारे नाख़ून , गज़ब की जानकरी

क्‍या आप ने कभी सोचा है कि ये नाखून बढ़ने के पीछे क्या राज हैं। जैसे ही नाख़ून बढ़ाते है हम उन्हें काट देते है कितना अच्छा होता अगर ये नाखून नहीं बढ़ते नही तो । आइए आपको बताते हैं हमारे हाथ-पैर के नाखून आखिर क्यों बढ़ते है …….

गज़ब दुनिया

नाखून की जड़ क्यूटिकल के अंदर होती है। जब इसकी जड़ में नई कोशिकाएं विकसित होती हैं तो वे पुरानी कोशिकाओं को बाहर की ओर धकेलती हैं। बाहर से ये कठोर दिखाई देती हैं,इन्हें ही नाखून कहते हैं। ये कोशिकाएं कैराटिन नामक प्रोटीन से बनती है । क्यूटिकल्स के पास की त्वचा में छोटी-छोटी ब्लड वेसल भी होती हैं। जिनसे नाखूनों को पोषण मिलता है। नाखून जड़ यह जीवित कोशिकाओं का रोगाणु है। रूट नई कोशिकाओं का उत्पादन करती है जो धीरे-धीरे आगे बढ़ते हैं विकास प्रदान करते हैं। यह त्वचा के नीचे कील के दृश्य हिस्से के नीचे थोड़ा नीचे स्थित है, इस तत्व को मैट्रिक्स भी कहा जाता है।

गज़ब दुनिया
गज़ब दुनिया

इसलिये बढ़ते हैं नाखून
नाखून में जड़ से निर्मित जीवित कोशिकाओं का केराटिनाइजेशन होता रहता है। नाखून के आसपास की त्‍वचा की मौत हो जाती है। जिससे की नाखूनों को बढ़ने में कोई भी परेशानी नही होती है नाखून मृत कोशिकायें होती है। यू-शेप क्यूटिकल नाखून का किनारा से नाखून बढऩा शुरू होते हैं। जानवरों में नाखून बढ़ना उनकी जीवनयापन के लिये बेहद अनिवार्य होता है। कई जानवर पेड़ों पर नाखूनों की सहायता से ही चढ़ते हैं। जब इंसान की उत्‍पति हुई थी तभी से नाखून शुरु हुई है। नाखून बढ़ना एक दैनिक क्रिया होती है।

YOU MAY LIKE