जानिए आखिर क्यों होते है लोग लेफ्टी , जानिए पूरा सच …..

भारत में लेफ्टी को बहुत परेशान किया जाता है इसका सबूत आप अपने आस पास देख सकते है | लेकिन क्या आप जानते है | दुनिया में लेफ्टी लोगों की संख्‍या भले ही कम हो, लेकिन जितने भी लेफ्टी हैं ज्‍यादातर महान शख्‍सियत हैं। इनके लेफ्टी होनी की मुख्‍य वजह क्‍या है। इसको लेकर कई रिसर्च भी की गई हैं। तो आइए जानें क्‍या है इसकी असल वजह….

गज़ब दुनिया

क्‍यों होते हैं लेफ्टी
कुछ रिसर्च से पता चला है कि मानव शरीर के जीन्स और डीएनए के कारण लोग लेफ्ट हैंड का इस्तेमाल करने लगते हैं। दरअसल छह महीने की उम्र से ही नवजात शिशु लेफ्ट हैंड या राइट हैंड का इस्तेमाल शुरू कर देते हैं और यही आगे चलकर उनकी आदत बन जाती है। कुछ हद तक ऐसा भी माना जाता है कि जेनेटिक कारणों से ऐसा होता है। अगर माता या पिता लेफ्टी हैं तो कुछ हद तक संभावना रहती है कि उनके बच्चे भी लेफ्टी हो ।

गज़ब दुनिया
गज़ब दुनिया
Loading...

वर्ल्‍ड में 10 परसेंट लोग हैं लेफ्टी
नवंबर से जनवरी के बीच जन्म लेने वाले बच्चों के लेफ्टी होने की संभावना अन्य महीनो से अधिक रहती है। एक रिसर्च में यह दावा किया गया है की रोजमर्रा की जिंदगी में आमतौर से विभिन्न कार्यों के लिए दाहिने हाथ के प्रयोग की जरूरत होती है। सामान्य आबादी के करीब 90 परसेंट लोग दाहिने हाथ से काम करते हैं। जबकि करीब 10 परसेंट लोग बायें हाथ से काम करते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ वियना के उलरिच, स्टीफन स्टीगर और मार्टिन वोरासेक ने इस संबंध में अध्ययन किया। उन्होंने अपने अध्ययन में ऑस्ट्रिया और जर्मनी के 13 हजार वयस्कों को शामिल किया। पाया गया कि इनमें से 7.5 परसेंट महिलाएं और 8.8 परसेंट पुरुष बायें हाथ से काम कर रहे थे |

गज़ब दुनिया
गज़ब दुनिया

नवंबर से जनवरी का समय
रिसर्च के लेखक उलरिच तरान के अनुसार ‘हमने देखा कि बायें हाथ से काम करने में निपुण अधिकांश पुरुषों का जन्म नवंबर से जनवरी के बीच हुआ था। मासिक औसत के रूप में बायें हाथ से काम करने में निपुण लोगों में से 8।2 परसेंट लोगों का जन्म फरवरी से अक्टूबर के बीच हुआ था। जबकि नवंबर से जनवरी के बीच यह परसेंट 10।5 था।

YOU MAY LIKE
Loading...