क्या आपको पता है की कहाँ पर बनते हैं नोट और सिक्के, नहीं तो जानिए

आज की दुनिया में हर चीज पैसे से जुड़ी हुई है फिर चाहे वह आपके सपने और खुशी ही क्यों न हो। यही वजह है कि इंसान बेहतर लाइफस्टाइल के लिए पैसों के पीछे भागता है। लेकिन कभी आपने सोचा है कि यह पैसा आता कहां से है, कौन सी कंपनी है जो नोटों और सिक्कों को बनाती है, किसकी देखरेख में इनका निर्माण होता है।



दरअसल इस बात की जानकारी बहुत ही कम लोगों को होगी कि भारत में नोटों और सिक्कों को जारी करने का अधिकार भारतीय रिजर्व बैंक के पास है। एक रुपए के नोट को छोड़कर बाकी सभी नोटों और सिक्कों को जारी करने का अधिकार भारतीय रिजर्व बैंक को है, जबकि एक रुपए का नोट वित्त मंत्रालय जारी करता है।


कौन सी कंपनी करती है इसका निर्माण


भारत प्रतिभूति मुद्रण तथा मुद्रा निर्माण निगम लिमिटेड (SPMCIL) वह संस्था है जो इन सिक्कों और नोटों का निर्माण कार्य करती है। यह एक सरकारी संस्था है जो सिक्कों की ढलाई तथा नोट छापने के अलावा गैर न्यायिक स्टांप, डाक टिकट भी बनाती है।

सिक्कों, नोटों, डाक टिकटों आदि के निर्माण के लिए एसपीएमसीआईएल के पास नौ यूनिट है। इसमें चार मुद्रणालये (Presses), चार टकसाले (Mints) और एक कागज कारखाना (Paper Mill) है। आइए जानते हैं इसे विस्तार से…

ये हैंं चार मुद्रणालय

1) करेंसी नोट प्रेस जो महाराष्ट्र के नासिक में है। यही बैंक नोट का निर्माण करती है
2) जबकि स्क्यूरिटी प्रिंटिग प्रेस हैदराबाद में है जो सरकारी दस्तावेज और डाक टिकट जारी करती है।
3) बैंक नोट प्रेस जो कर्नाटक के मैसूर में है।
4) इंडिया स्क्यूरिटी प्रेस जो नासिक में है।


ये हैंं चार टकसाल

सिक्कों के निर्माण के लिए जो चार टकसाल हैं वह मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद और नोएडा में है।

पेपर मिल
इसके अलावा एक स्क्यूरिटी पेपर मिल भी है जो बैंक नोट और नोन जुडिसियल स्टांप के पेपर तैयार करती है। इसका कारखाना मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में है