आप भी है शारीरिक कमजोरी से है परेशान तो खाइये इमली के बीज, बस खाने का सही तरीका जान लीजिये

आप ने इमली तो बहुत बार खाई होगी और नहीं खाई है तो इसे आज ही खाए क्यों की इमली के बीज बहुत लाभकारी हैं। साथ ही अगर आप शारीरिक कमजोरी से परेशान हो तो आप के लिए इमली के बीज किसी ओषधी से कम नहीं है। आपको पता नहीं हैं के इमली के बीज मर्दाना शक्तिवर्धक स्वप्न दोष धातु की कमज़ोरी और स्त्रियों के प्रदर रोग में भी बहुत लाभकारी हैं। ये सस्ती और मर्दाना ताक़त के लिए बहुत बढ़िया दवा हैं। इस से वीर्य गाढ़ा हो स्तम्भन शक्ति बढ़ जाती हैं। आइये जाने इसके प्रयोग की विधि।

250 ग्राम इमली के बीज भाड़ में भुनवा लीजिये या घर पर ही भून लीजिये। फिर इनको कूटकर छिलका उतार ले। इसमें 250 ग्राम बुरा खांड मिला ले। इसके दो चम्मच नित्य प्रात: गर्म दूध से फंकी ले। यह स्वप्न दोष और मर्दाना शक्ति बढ़ाने में लाभदायक हैं। स्त्रियों का प्रदर भी इससे ठीक होता हैं।

250 ग्राम बीजो को चार दिन पानी में भिगोये और फिर छिलके उतार कर छाया में सुखाये। सूखने पर पीसकर समान भाग मिश्री मिलाकर पीसें। चौथाई चम्मच नित्य दूध से दो बार सुबह शाम इसकी फंकी ले। ५० दिन सेवन से शीघ्र पतन दूर होगा, वीर्य गाढ़ा हो जायेगा।

जिन युवको को धातु की कमज़ोरी हो या पेशाब में धात गिरती हो तो उनको हर रोज़ एक चममच आंवला और मिश्री का एक समान बना हुआ चूर्ण एक चम्मच रात्रि को सोने से पहले गुनगुने दूध के साथ ज़रूर सेवन करना चाहिए।

Add a Comment