क्या है ‘Waisi Wali Picture’ , बी और सी ग्रेड की फ़िल्मों के अंदर की सच्चाई – देखे ये वीडियो

0
69

“आनंद” फ़िल्म का एक डॉयलॉग है, “जीना तो बंबई (अब मुंबई) में, मरना तो बंबई में.” बस ये एक संवाद मुंबई के अस्तित्व को बयां करने के लिए काफ़ी है. हर साल ना जाने कितने लोग अपने सपने लिए समंदर के किनारे बैठे इस शहर की गोद में जाकर बैठ जाते हैं. हर दूसरा शख़्स यहां अभिनेता, निर्देशक और फ़िल्मों से जुड़े अन्य कामों करने के लिए आता है. यहां बॉलीवुड तो बनता ही है, लेकिन इसके साथ-साथ यहां बी और सी ग्रेड की फ़िल्मों का निर्माण भी किया जाता है

हमारे देश में लोग सेक्स के मसले पर बात नहीं करने से हिचकिचाते हैं, लेकिन सबसे ज़्यादा जनसंख्या ऐसे तो नहीं बढ़ी?(ये लेखक के विचार नहीं हैं. कभी समय ही नहीं मिला इस बारे में सोचने पर). अरे वो बी और सी ग्रेड की बात कर रहे थे ना? Scoopwhoop ने NewsLaundry के साथ मिलकर Chase का नया एपिसोड रिलीज़ किया है. ये एपिसोड बी और सी ग्रेड की फ़िल्मों के बारे में बात कर रहा है. इस एपिसोड का नाम है Waisi Wali

आज ये बी और सी ग्रेड्स की फ़िल्में बनाते हैं. कभी ये भी बनने अभिनेता ही आये थे. दीवाना फ़िल्म में तो इन्होंने एक रोल भी किया था. आज 26 साल बाद बी और सी ग्रेड्स की फ़िल्मों का निर्देशन, लेखन और प्रॉड्यूसर का काम करते हैं.

यहां भी लाइट्स हैं, कैमरा है, लोग हैं कला है पर इसे बी/सी ग्रेड में बांट दिया जाता है.  हम यहां ज़्यादा बोलना बंद करके वीडियो को खुद बोलने देते हैं.

यहां देखिए और अपने हिसाब से सोचिए. जो भी सोचते हैं इस मसले पर, राय कमेंट बॉक्स में ज़रूर दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here