ये कछुआ पैसा देता नहीं बल्कि खाता है

फेंगशुई में बताए गए सभी बातों का पालन करके शहरी लोग सुखी जीवन की कामना करते हैं. इसी के अनुसार घर में अगर कछुए की प्रतिमा राखी जाए तो उससे पैसा आता है. आपने भी कई घरों में ये देखा होगा की छोटे से बर्तन में पानी भरकर उसमें कछुआ रखा रहता है. ऐसा लोग इसलिए करते हैं, क्योंकि इससे घर में पैसा आता है. फेंगशुई में इस बात की पुष्टि की गई है कि अगर आर्थिक स्थिति से जूझ रहे हैं तो ऐसा करें. इससे जल्द ही बिगड़ी हुई स्थिति ठीक हो जाती है और पैसा आता है.

अब ये सच है या नहीं ये तो पता नहीं, लेकिन एक बात तो साफ़ है कि ऐसी मान्यता है कि घर में कछुए को रखने से पैसा आता है. कई लोग जीवित कछुआ भी रखते हैं. वो उसे बड़े से टब में पानी भरकर रखते हैं. इसका सीधा सा अर्थ ये हुआ कि कछुआ पैसा का श्रोत है. इससे पैसा आता है, लेकिन आज हम आपको जिस कछुए के बारे में बताने जा रहे हैं, वो कछुआ जो पैसा खाता था.

कछुआ जो पैसा खाता था – जी हाँ, बिलकुल सही सुन रहे हैं आप. विदेश में एक ऐसे कछुए को पकड़ा गया है, जिसके पेट से कई कई सिक्के निकालें. ये खबर है थाईलैंड की. यहाँ मान्यता है कि कछुए पर सिक्के फेंकने से उम्र लंबी होती है. लोग पानी में कछुए के ऊपर सिक्के फेंकते हैं. ऐसा करना शुभ माना जाता है और इससे पैसे आते हैं. अपनी मान्यता के अनुसार ये लोग सिक्के फेंकते रहे. इससे ये कछुआ सिक्कों को खाता गया. वो पानी में फेंके सिक्कों को खा जाता था.

कुछ महीनों के बाद जब वहां के रख रखाव वालों की नज़र गई तो पता चला कि एक कछुआ जो अब ठीक तरह से तैर नहीं पा रहा है अचानक से बहुत मोटा हो गया है. तुरंत एक पशु चिकित्सक को बुलाया गया और कछुए को उन्हें दिखाया गया. जांच में पता चला कि कछुए के पेट में सिक्के है. पेट में सिक्कों का भार बढ़ने की वजह से कछुए के पेट का निचला हिस्सा फटने लगा था. डॉक्टरों ने ये फैसला लिया कि अब कछुए का ऑपरेशन किया जाए.

कछुए को अस्पताल में भर्ती किया गया. उसे बचाने के लिए यह ऑपरेशन जरूरी था. ऑपरेशन शुरू किया गया. ऑपरेशन करीब 7 घंटे तक चला था. ओमसिन को बैंकॉक के श्रीराचा में स्थित एक संरक्षण केन्द्र में रखा गया था. यह बैंकाक के पूर्वी हिस्से में स्थित है. इस कछुए का सही तरह से ऑपरेशन हो गया और अब वो स्वस्थ है. पशु चिकित्सकों ने करीब सात घंटे तक लगातार ऑपरेशन कर एक मादा कछुए की जान बचा ली. इस छोटे से जीव की जान बच गई.

डॉक्टरों ने बताया कि कछुए के पेट से 900 से अधिक सिक्के निकाले गए हैं. इसका मतलब ये हुआ कि सिक्के फेंकना भले ही वहां के लोग शुभ मानते थे, लेकिन इससे एक कछुए की जन मुश्किल में पड़ गई.

ये है वो कछुआ जो पैसा खाता था – हमारे यहाँ भी नदियों में सिक्के फेंकने की प्रथा है. ऐसा करना जीवों के लिए ठीक नहीं. आप ऐसा करने से बचें.