रावण संहिताः भाग्य बदल देते हैं ये 4 आसान से उपाय, आजमाकर देखें

हम सभी को ये बात पता है कि रावण एक राक्षस था लेकिन वह कई शास्त्रों का ज्ञाता भी था उसने रावण संहिता नामक एक पुस्तक भी लिखी थी। रावण संहिता में रावण ने धन प्राप्ति के कई उपाए बताए गए हैं जिसको अपना कर हम अपने भाग्य को बदल सकते हैं।

रावण संहिता

रावण संहिता के अनुसार धन प्राप्ति करने के लिए व्यक्ति को सुबह जल्दी उठना चाहिए और स्नान करके रुदाक्ष की माला के साथ ऊँ ह्रीं श्रीं क्लीं नम: ध्व: स्वाहा मंत्र का जाप 21 दिनों तक करना चाहिए।

काफी मेहनत करने के बाद भी अगर आपके पास पैसे की कमी हमेशा बनी रहती है तो 40 दिनों तक ऊँ सरस्वती ईश्वरी भगवती माता क्रां क्लीं श्रीं श्रीं धनं देहि फट स्वाह मंत्र का जाप करें।

यदि आपको माता लक्ष्मी के साथ धन कुबेर की कृपा चाहिए तो उँ यक्षाय कुबेराय वैश्रवाणाय धन धन्याधिपतये धन धान्य समृद्धि मे देहि दापय स्वाहा मंत्र का जाप करें।

दुर्वा घास को धार्मिक ग्रंथों और पुराणों में बहुत ही शुभ चीज माना गया है। गाय का दूध और दुर्वा घास को मिलाकर उसका तिलक करने से धन का योग बनता है।