ये हैं दुनिया की सबसे गर्म जगह जहां आप पिघल सकते हैं।

0
3935
चलिए आज आपको दुनिया की सबसे गर्म जगह का क़िस्सा सुनाते हैं। इस जगह का नाम है, ‘डानाकिल डिप्रेशन’। ये जगह उत्तरी अफ्रीकी देश इथियोपिया में है। यहां तो गर्मी में जाने की बिल्कुल भी मत सोचियेगा भईया जी और बात यह भी है कि ठंड में भी मत जाइयेगा वरना फिर वापस आने का ख्याल तो दिल से निकाल ही दीजिये।



‘डानाकिल डिप्रेशन’ दुनिया की सबसे गर्म, सबसे सूखी, और धरती पर सबसे नीची जगह है। यहां का मौसम बेहद ज़ालिम है। फिर भी आप ये जानकर हैरान रह जाएंगे कि बेहद ख़राब माहौल होने के बावजूद यहां बहुत से लोग रहते हैं। इथियोपिया के अफ़ार समुदाय के लोग बेरहम मौसम वाले ठिकाने को अपना घर मानते हैं।


‘डानाकिल डिप्रेशन’ को दुनिया की सबसे गर्म जगह इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहां साल भर औसत तापमान 34.4 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहता है। धरती पर जो और गर्म जगहें हैं, वहां औसतन इतना तापमान नहीं रहता। कभी-कभी बहुत ज़्यादा गर्मी पड़ती है। मगर ‘डानाकिल डिप्रेशन’ में औसत तापमान ही 35 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहता है।इसके सिवा यहां बारिश भी बेहद कम होती है। साल भर में केवल 100 से 200 मिलीमीटर बारिश यहां होती है। ‘डानाकिल डिप्रेशन’ में सिर्फ़ धरती के ऊपर का माहौल ही नहीं ख़राब है। यहां धरती के अंदर भी हलचल मची हुई है।

जब ‘डानाकिल डिप्रेशन’ पहुंचेंगे तो आपको लगेगा कि आप धरती पर नहीं, किसी और ग्रह पर पहुंच गए हैं। यहां का मौसम बेहद गर्म और रूखा है। यहां-वहां गड़्ढों में पिघलता लावा दिखेगा। आस-पास के इलाक़ों में लावे के ठंडे होने से बनी चट्टानें और पहाड़ियां दिखेंगी। समंदर की शुरुआत तो लाखों साल बाद हुई लेकिन लाखों साल पहले इसी जगह से इंसान का विकास शुरू हुआ था।

1974 में वैज्ञानिक डोनाल्ड जॉनसन और उनकी टीम ने यहीं पर लूसी नाम का कंकाल खोज निकाला था। वो ऑस्ट्रेलोपिथेकस नस्ल की थी जो इंसान के सबसे पुराने रिश्तेदार माने जाते हैं। आज के मानव से पहले के कई नस्लों के कंकाल यहां से मिले हैं। इसीलिए वैज्ञानिक इसे इंसान के विकास का पहला ठिकाना मानते हैं।

यहां का माहौल देखकर आपको लगेगा कि भला इतनी बेरहम जगह पर कौन रहेगा। मगर यहां अफार समुदाय के लोग रहते हैं। आप यहां जलते हुए सूरज में रोस्ट हो जाएंगे। मगर अफार समुदाय के लोगों को इस गर्म, रूखे माहौल में रहने की आदत हो गई है। उन्हें यहां के माहौल में रहने की ऐसी आदत हो गई है कि भूख-प्यास भी नहीं लगती लेकिन आप यहां जाने का जोखिम न लेना भाई साहब, हमारा काम था आपको जानकारी देना सो हमने दे दिया।

YOU MAY LIKE
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here