Tag: Panchatantra Hindi Story

चुहिया का स्वयंवर पंचतंत्र की कहानी The Wedding Of The Mice Panchatantra Hindi Story

गंगा नदी के किनारे एक तपस्वियों का आश्रम था । वहाँ याज्ञवल्क्य नाम के मुनि रहते थे । मुनिवर एक नदी के किनारे जल लेकर आचमन कर रहे थे कि पानी से भरी हथेली में ऊपर से एक चुहिया गिर गई...

पंचतंत्र की कहानी – संगीतमय गधा The Musical Donkey Panchatantra Hindi Story

एक धोबी का गधा था। वह दिन भर कपडों के गट्ठर इधर से उधर ढोने में लगा रहता। धोबी स्वयं कंजूस और निर्दयी था। अपने गधे के लिए चारे का प्रबंध नहीं करता था। बस रात को चरने के लिए खुला...

पंचतंत्र की कहानी – राक्षस का भय Fear Of Daemon Panchatantra Hindi Story

एक नगर में भद्रसेन नाम का राजा रहता था। उसकी कन्या रत्‍नवती बहुत रुपवती थी। उसे हर समय यही डर रहता था कि कोई राक्षस उसका अपहरण न करले । उसके महल के चारों ओर पहरा रहता था, फिर भी वह...

पंचतंत्र की कहानी -मूर्ख बातूनी कछुआ – मित्रभेद The Turtle that fell off the Stick Panchatantra Hindi Story

एक तालाब में कम्बुग्रीव नामक एक कछुआ रहता था। उसी तलाब में दो हंस तैरने के लिए उतरते थे। हंस बहुत हंसमुख और मिलनसार थे। कछुए और उनमें दोस्ती होते देर न लगी। हंसो को कछुए का धीमे-धीमे चलना और उसका...

तेनालीराम और रसगुगुल्ले की जड़ – तेनालीराम की कहानियां (Tenaliram and Rasgulla ki jad Storiy in Hindi)

मध्य पूर्वी देश से एक ईरानी शेख व्यापारी महाराज कृष्णदेव राय का अतिथि बन कर आता है। महाराज अपने अतिथि का सत्कार बड़े भव्य तरीके से करते हैं और उसके अच्छे खाने और रहने का प्रबंध करते हैं, और साथ ही...

तेनालीराम और अरबी घोड़े का किस्सा – तेनालीराम की कहानियां (Tenali Raman Storiy in Hindi)

महाराज कृष्णदेव राय के दरबार में एक दिन एक अरब प्रदेश का व्यापारी घोड़े बेचने आता है। वह अपने घोड़ो का बखान कर के महाराज कृष्णदेव राय को सारे घोड़े खरीदने के लिए राजी कर लेता है तथा अपने घोड़े बेच...

पंचतंत्र की कहानी -शेर, ऊंट, सियार और कौवा -मित्रभेद The Lion, Camel, Jackal And Crow Panchatantra Hindi Story

किसी वन में मदोत्कट नाम का सिंह निवास करता था। बाघ, कौआ और सियार, ये तीन उसके नौकर थे। एक दिन उन्होंने एक ऐसे उंट को देखा जो अपने गिरोह से भटक कर उनकी ओर आ गया था। उसको देखकर सिंह...

पंचतंत्र की कहानी – सांप की सवारी करने वाले मेढकों की कथा Frogs That Rode A Snake Panchatantra Hindi Story

किसी पर्वत प्रदेश में मन्दविष नाम का एक वृद्ध सर्प रहा करता था। एक दिन वह विचार करने लगा कि ऐसा क्या उपाय हो सकता है, जिससे बिना परिश्रम किए ही उसकी आजीविका चलती रहे। उसके मन में तब एक विचार...

पंचतंत्र की कहानी – ब्राह्मणी और तिल के बीज Brahmani And Sesame Seeds Panchatantra Hindi Story

एक बार की बात है एक निर्धन ब्राह्मण परिवार रहता था, एक समय उनके यहाँ कुछ अतिथि आये, घर में खाने पीने का सारा सामान ख़त्म हो चुका था, इसी बात को लेकर ब्राह्मण और ब्राह्मण-पत्‍नी में यह बातचीत हो रही...

पंचतंत्र की कहानी -गौरैया और हाथी – मित्रभेद The Elephant and the Sparrow Panchatantra Hindi Story

किसी पेड़ पर एक गौरैया अपने पति के साथ रहती थी। वह अपने घोंसले में अंडों से चूजों के निकलने का बेसब्री से इंतज़ार कर रही थी। एक दिन की बात है गौरैया अपने अंडों को से रही थी और उसका...