एक पड़ोसी मुल्ला नसरुद्दीन के द्वार पर पहुंचा। मुल्ला उससे मिलने बाहर निकले। “ मुल्ला क्या तुम आज के लिए अपना गधा मुझे दे सकते हो , मुझे कुछ सामान दूसरे शहर पहुंचाना है ? ” मुल्ला उसे अपना गधा नहीं...