धृतराष्ट्र जन्म से ही अन्धे थे, अतः उनकी जगह पर पाण्डु को हस्तिनापुर का राजा बनाया गया था। इससे धृतराष्ट्र को सदा अपनी नेत्रहीनता पर क्रोध आता और उन्हें पाण्डु से द्वेषभावना होने लगती। पाण्डु ने कुछ ही समय में सम्पूर्ण...