आँख खुलते ही याद… आँख खुलते ही याद आ जाता है तेरा चेहरा, दिन की ये पहली ख़ुशी भी कमाल होती है। मुबारक हसीं सवेरा शायरी… नयी सी सुबह, नया सा सवेरा, सूरज की किरणों में हवाओं का बसेरा, खुले आसमान...