रक्तदान महादान है और इसे प्रत्येक शारीरिक सक्षम व्यक्ति को करना ही चाहिए | रक्तदान एक मानव सेवा ही नहीं अपितु एक आत्मसंतुष्टि का कार्य भी है | किसी भी व्यक्ति के स्वैच्छिक रक्तदान में मात्र 450 मिलीलीटर रक्त निकाला जाता...