***** 1 मैं अकेला ही चला था जानिबे-मंजिल मगर लोग आते गए और कारवां बनता गया   Main akela hi chala tha janibe-manzil magar Log aate gaye aur kaarvan banta gaya  ये भी पढ़े : छत्रपति शिवाजी महाराज के सुविचार Shivaji...