Quote 1: It is forbidden to decry other sects; the true believer gives honour to whatever in them is worthy of honour. अन्य सम्प्रदायों की निंदा करना निषेध है; सच्चा आस्तिक उन सम्प्रदायों में जो कुछ भी सम्मान देने योग्य है...