आज का समाज भले खुद को कितना ही आधुनिक समझ ले परन्तु यह महिलाओ के बारे में कभी भी उतना आधुनिक नही हो सकता जितना की आज होना चाहिए | इस पुरुष प्रधान समाज में महिलाओ को हमेशा से ही कमतर...