किचन में हल्‍की-हल्‍की रौशनी थी और अराधना मीठी सी आवाज में कुछ गुनगुना रही थी। उसकी मीठी आवाज में नल से टपकता पानी खलल डाल रहा था। वो हल्‍की नींद में थी क्‍योंकि सुबह 6 बजे के अलार्म ने उसे जगा...