Tag: दादी की कहानियाँ

पंचतंत्र की कहानी – वानरराज का बदला The Unforgiving Monkey King Panchatantra Hindi Story

एक नगर के राजा चन्द्र के पुत्रों को बन्दरों से खेलने का व्यसन था । बन्दरों का सरदार भी बड़ा चतुर था । वह सब बन्दरों को नीतिशास्त्र पढ़ाया करता था । सब बन्दर उसकी आज्ञा का पालन करते थे ।...

पंचतंत्र की कहानी – राक्षस का भय Fear Of Daemon Panchatantra Hindi Story

एक नगर में भद्रसेन नाम का राजा रहता था। उसकी कन्या रत्‍नवती बहुत रुपवती थी। उसे हर समय यही डर रहता था कि कोई राक्षस उसका अपहरण न करले । उसके महल के चारों ओर पहरा रहता था, फिर भी वह...

पंचतंत्र की कहानी -मूर्ख बातूनी कछुआ – मित्रभेद The Turtle that fell off the Stick Panchatantra Hindi Story

एक तालाब में कम्बुग्रीव नामक एक कछुआ रहता था। उसी तलाब में दो हंस तैरने के लिए उतरते थे। हंस बहुत हंसमुख और मिलनसार थे। कछुए और उनमें दोस्ती होते देर न लगी। हंसो को कछुए का धीमे-धीमे चलना और उसका...

तेनालीराम और रसगुगुल्ले की जड़ – तेनालीराम की कहानियां (Tenaliram and Rasgulla ki jad Storiy in Hindi)

मध्य पूर्वी देश से एक ईरानी शेख व्यापारी महाराज कृष्णदेव राय का अतिथि बन कर आता है। महाराज अपने अतिथि का सत्कार बड़े भव्य तरीके से करते हैं और उसके अच्छे खाने और रहने का प्रबंध करते हैं, और साथ ही...

तेनालीराम और स्वर्ग की खोज – तेनालीराम की कहानियां (Tenaliram and Paradise Search Storiy in Hindi)

महाराज कृष्णदेव राय अपने बचपन में सुनी कथा अनुसार यह विश्वास करते थे कि संसार-ब्रह्मांड की सबसे उत्तम और मनमोहक जगह स्वर्ग है। एक दिन अचानक महाराज को स्वर्ग देखने की इच्छा उत्पन्न होती है, इसलिए दरबार में उपस्थित मंत्रियों से...

तेनालीराम और अरबी घोड़े का किस्सा – तेनालीराम की कहानियां (Tenali Raman Storiy in Hindi)

महाराज कृष्णदेव राय के दरबार में एक दिन एक अरब प्रदेश का व्यापारी घोड़े बेचने आता है। वह अपने घोड़ो का बखान कर के महाराज कृष्णदेव राय को सारे घोड़े खरीदने के लिए राजी कर लेता है तथा अपने घोड़े बेच...

पंचतंत्र की कहानी -शेर, ऊंट, सियार और कौवा -मित्रभेद The Lion, Camel, Jackal And Crow Panchatantra Hindi Story

किसी वन में मदोत्कट नाम का सिंह निवास करता था। बाघ, कौआ और सियार, ये तीन उसके नौकर थे। एक दिन उन्होंने एक ऐसे उंट को देखा जो अपने गिरोह से भटक कर उनकी ओर आ गया था। उसको देखकर सिंह...

पंचतंत्र की कहानी – सांप की सवारी करने वाले मेढकों की कथा Frogs That Rode A Snake Panchatantra Hindi Story

किसी पर्वत प्रदेश में मन्दविष नाम का एक वृद्ध सर्प रहा करता था। एक दिन वह विचार करने लगा कि ऐसा क्या उपाय हो सकता है, जिससे बिना परिश्रम किए ही उसकी आजीविका चलती रहे। उसके मन में तब एक विचार...

जातक कथाएँ – दो हंसों की कहानी The Story of Two Swans Jataka Stories In Hindi

मानसरोवर, आज जो चीन में स्थित है, कभी ठमानस-सरोवर’ के नाम से विश्वविख्यात था और उसमें रहने वाले हंस तो नीले आकाश में सफेद बादलों की छटा से भी अधिक मनोरम थे। उनके कलरव सुन्दर नर्तकियों की नुपुर ध्वनियों से भी...

जातक कथाएँ – चाँद पर खरगोश The Hare on the Moon Jataka Stories In Hindi

गंगा के किनारे एक वन में एक खरगोश रहता था। उसके तीन मित्र थे – बंदर, सियार और ऊदबिलाव। चारों ही मित्र दानवीर बनना चाहते थे। एक दिन बातचीत के क्रम में उन्होंने उपोसथ  (उपोसथ बौद्धों के धार्मिक महोत्सव का दिन...