सूर्य देव की और अपना मुख कर के सूर्य नमस्कार किया जाता है | जिससे सूर्य की किरणों का सीधा प्रभाव साधक पर पड़ता है |सूर्य नमस्कार सभी योगासनों में सबसे श्रेष्ट है। इस अकेले  अभ्यास से ही साधक को सम्पूर्ण...