OMG.. ! मुंबई में रातों रात अचानक बदल गए कुत्तो के रंग,काले से हो गए नीले, जानिए इसकी वजह…..

आपने सफेद, काले और भूरे रंग के कुत्ते देखे होंगे। लेकिन क्या आपने कभी नीले रंग का कुत्ता देखा लेकिन ये कुत्ता आपको भी हैरान कर देगा। इन दिनों मुंबई में नीले रंग के कुत्ते नजर आ रहे हैं। उनके शरीर के बाल, फर का रंग पूरी तरह से नीला है। लेकिन आखिर ये नीले रंग के कुत्ते आए कहां से चलिए बताते हैं।

दरअसल, मुंबई के तलोजा औद्योगिक क्षेत्र के पास रहने वाले कुत्तों का रंग नीला नहीं है ये कुत्ते नीले पड़ गए हैं। कुत्तों का नीला रंग कसाड़ी नदी का गंदा पानी पीने से हुआ है। नहीं में औद्योगिक अपशिष्ट पदर्थ बहाए जाते हैं, इस वजह से नदी का पानी पूरी तरह से प्रदूषित हो गया है। इस नदी का पानी किस हद तक गंदा है इसका अंदाजा आप इन कुत्तों को देखकर ही लगा सकते हैं। बता दें कि जब ये कुत्ते यहां पानी पीने और यहां पड़े खाने की चीजों को खाते हैं, तो कैमिकल की वजह से उनकी बॉडी का रंग बदल जाता है और कुत्ते नीले रंग के हो जाते हैं।

लगातार बढ़ रहे नीले रंग के कुत्तों की रोकथाम के लिए पशु सुरक्षा अधिकारी अब स्थानीय अधिकारियों से आग्रह कर रहे हैं कि नदी में कचरे को डंप करने वाली कंपनियों पर कार्रवाई करें। पशु संरक्षण अधिकारी अरती चौहान ने कहा, हमने लगभग ऐसे पांच कुत्ते को देखा है, यह वाकई चौंकाने वाला था कि कुत्ते का सफेद फर पूरी तरह नीला हो गया था। अधिकारियों को इस समस्या से अवगत कराया गया है और इस क्षेत्र में पानी की गुणवत्ता परीक्षण किया गया है। जांच में पता चला कि इस क्षेत्र में कुल प्रदूषण स्तर ‘सुरक्षित सीमा’ से 13 गुना अधिक है।

नीले रंग के इन कुत्तों को हाल में ही मुंबई पशु संरक्षण सेल ने अपने कैमरे में कैद की। सेल ने महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (एमपीसीबी) में इसकी शिकायत दर्ज कराई। यहां पशुओं के पीड़ित होने के बारे में जानकारी दी गई। क्योंकि औद्योगिक इकाइयों द्वारा नदियों में सीधे अपशिष्ट पदार्थ का प्रवाह किया जा रहा है। बता दें कि क्षेत्र में करीब 1000 दवा, खाद्य और इंजीनियरिंग कारखानों हैं।

Add a Comment