हनुमान जी के कलयुग में होने के 10 ऐसे सबूत जो आप को यकीन दिला देंगे की आज भी हनुमान जी धरती पर है..

हम सभी हमारे धर्म ग्रंथो के अनुसार जानते है की भगवान हनुमान अजर अमर है और हमारे शास्त्रों में बताया गया है की भगवान हनुमान कलयुग के अंत तक धरती पर रहेंगे और सब की मनोकामनाएं पूरी करंगे। आज हम आपको कुछ ऐसे सबूत बताते है जो हनुमान जी के कलयुग में भी होने की सच्चाई को उजागर करते है आईये जानते है इसके बारे में ……

1. रामायण के अनुसार जब लक्ष्मण मुर्छित पड़ें हुए थे तो वैद जी ने जिन जड़ी बूटियों का नाम बताया था वह हिमालय पर्वत पर ही मिलती थी तब हनुमान जी हिमालय गये थे और वहां से पूरा पहाड़ ही उठाकर लाए थे। बाद में विज्ञान के समय श्रीलंका के अन्दर जो वह पहाड़ है उसकी जांच हुई तो वह और हिमालय के पहाड़ एक समान पाए गये थे। यह बात दर्शाती है कि हनुमान जी हिमालय से पहाड़ लेकर गये थे।

2. श्रीलंका का एक आदिवासी कबीला है जिसका नाम मातंग कबीला है। हनुमान जी इस कबीले के लोगों से आज भी साक्षात् प्रकट होकर मुलाकात करते हैं। यह कबीला विभीषण के ही खून का कबीला है। इस बात की पुष्टि रीसर्च में भी हुई है।

3. हनुमान के साक्षात् होने का एक सबूत यह भी है कि शास्त्रों में लिखा गया है कि कलयुग में हनुमान जी गंधमादन पर्वत पर निवास करेंगे। कई साधू-संतों से आप कुंभ में मिलिए और इस सच को जानिए, तो आपको हैरान करने वाली जानकारी मिलेगी।

4. महाभारत में भी हनुमान जी का जिक्र आता है। एक तो भीम से हनुमान जी की मुलाकात जंगलों में होती है और दूसरा कि अर्जुन के रथ के ऊपर भी हनुमान जी विराजमान थे, यह कृष्ण खुद स्वीकार करते हैं।

5. हनुमान का कलयुग में चमत्कार नैनीताल के कैंची धाम में देखा जा सकता है। खुद फेसबुक के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग ने और एप्पल प्रमुख स्टीव जॉब ने इस हनुमान मंदिर का जिक्र किया है।

6. जुग सहस्त्र जोजन पर भानू । लिल्यो ताहि मधुर फल जानू… हनुमान चालीसा की यह पंक्तियाँ सूर्य और धरती के बीच की सही दूरी हजारों साल पहले बता देती हैं। नासा ने जो दूरी आज बताई है यह लगभग उतनी ही है, जितनी की हनुमान चालीसा की यह पंक्ति बताती है।

7. हनुमान जी की जिस रूप में पूजा हम कर रहे हैं वह उस रूप में नहीं हैं। हनुमान का वानर रूप गलत बताया गया है। हनुमान किसी भी रूप में आ सकते हैं और उनका कोई एक रूप नहीं है।

 

8. अमेरिका की माया सभ्यता जो हजारों साल पुरानी है। यह सभ्यता जिसकी पूजा करती है, वह MONKEY HAWKER GOD हैं और आप कभी इनके भगवान की तस्वीर देखते हैं तो आपको मालुम चलेगा कि वह हनुमान ही हैं।

9. शिमला के अन्दर एक मंदिर है जिसका नाम जाखू मंदिर है। इस मंदिर में हनुमान जी के पैरों के निशान मौजूद हैं।

10. हनुमान चालीसा की हर पंक्ति और शब्द में इतनी शक्ति है कि व्यक्ति इसका जापकर, कुछ भी प्राप्त कर सकता है। यहाँ तक की हनुमान चालीसा के पढ़ने के समय व्यक्ति का तेज कई लाखों गुना बढ़ जाता है, इस बात को विज्ञानं भी स्वीकार करने लगा है।