अगर इस तरह से खायेंगे शिलाजीत तो सेक्स पॉवर तो बढ़ेगी ही ,साथ ही बुढापा भी नहीं आएगा पास

Loading...

आजकल बहुत सी दवाइयां बाज़ार में आ चुकी है जो यौन शक्ति बढ़ाने का दावा तो करती है मगर उतनी असरकार नही होती इसलिए आयुर्वेदिक चीजो का उपयोग ही बेहतर होता है | इसलिए आज हम लेकर आये है आपके लिए शिलाजीत जैसी विश्वसनीय औषधि जो होगी आपके लिए बहुत ही कारगर……..

सेक्स पॉवर में शिलाजीत

आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत के सेवन के सेक्स पॉवर बढ़ती है। इतना ही नहीं इससे बुढापा भी दूर रहता है। शिलाजीत का मुख्य उद्देश्य शरीर का बल देकर उसे स्वस्थ, शक्तिशाली तथा पुष्ट बनाना होता है। यह देखने में काफी कडवा, कसैला, गर्म तथा वीर्यवद्र्धक होता है। स्वप्नदोष की समस्या दूर करने के लिए भी शिलाजीत का प्रयोग बहुत अच्छा है। इसके लिए शुद्ध शिलाजीत, लौहभस्म, केसर तथा अम्बर का मिलाकर लेना होता है। इससे व्यक्ति की न केवल सेक्स पॉवर में सुधार होता है बल्कि उसका बूढ़ा शरीर भी 20 वर्ष के जवान की तरह हो जाता है |इसके प्रयोग के दौरान खटाई, मिर्च मसाला आदि से पूरी तरह दूर रहना चाहिए।

आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत की उत्पत्ति पत्थर से हुई है। गर्मी के मौसम में सूर्य की तेज गर्मी से पर्वत की चट्टानों के धातु अंश पिघल कर रिसने लगता है। इसी पदार्थ को शिलाजीत कहा जाता है। यह देखने में तारकोल की तरह काला तथा गाढ़ा होता है जो सूखने के बाद एकदम चमकीला रूप ले लेता है।शिलाजीत के सूखने पर उसमें गौमूत्र जैसी गंध आती है।

शिलाजीत चार प्रकार का होता है: रजत, स्वर्ण, लौह तथा ताम्र शिलाजीत। प्रत्येक प्रकार की शिलाजीत के गुण तथा लाभ भी उनकी प्रकृति के ही अनुसार होते हैं। शिलाजीत का प्रयोग शीघ्रपतन की समस्या दूर कर वीर्यवर्द्धन के लिए किया जाता है। इसके लिए बीस ग्राम शिलाजीत तथा बंग भस्म में दस ग्राम लौह भस्म तथा छह ग्राम अभ्रक भस्म मिलाकर लेने से बहुर लाभ होता है। शीघ्रपतन की समस्या इससे पूर्ण रूप से दूर हो जाती है। परन्तु इस प्रयोग के दौरान खटाई, मिर्च मसाला आदि से पूरी तरह दूर रहना चाहिए।

YOU MAY LIKE
Loading...