सावधान ! शनिवार को भूलकर भी नहीं करना चाहिए ये काम, वरना शनिदेव करेंगे कोप और भाग्य दुर्भाग्य में बदल जायेगा

सप्ताह के सातों के दिनों के अलग-अलग कारक ग्रह बताए गए हैं। रविवार का कारक ग्रह सूर्य है, सोमवार का चंद्र, मंगलवार का मंगल, बुधवार का बुध, गुरुवार का गुरु, शुक्रवार का शुक्र, शनिवार का कारक शनि है। ज्योतिष में शनि को न्यायाधीश माना गया है। ये ग्रह हमारे कर्मों का फल प्रदान करता है।

Loading...

जिन लोगों के कर्म गलत होते हैं, उनके लिए शनि अशुभ हो जाता है। शनि के अशुभ होने से किसी भी काम में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती है, साथ ही घर-परिवार में परेशानियां बढ़ सकती हैं। शनिवार का कारक शनि है और विशेष रूप से इस दिन ऐसे कामों से बचना चाहिए, जिनसे कुंडली में शनि अशुभ हो सकता है।

 शनिवार को कौन-कौन से काम नहीं करना चाहिए...

1. पुरानी परंपरा है कि शनिवार को घर में लोहा या लोहे से बनी चीज लेकर नहीं आना चाहिए। इस दिन लोहे की चीजों का दान करना चाहिए।

2. शनिवार को किसी गरीब का अपमान न करें। शनिदेव गरीबों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस कारण जो लोग गरीबों का अपमान करते हैं, गरीबों को परेशान करते हैं, शनि उनके जीवन में परेशानियां बढ़ा देता है।

3. शनि को मनाने के लिए शनिवार को तेल का दान करना चाहिए। इन दिन तेल घर में लेकर नहीं आना चाहिए।

4. ध्यान रखें किसी बाहरी व्यक्ति से जूते-चप्पल उपहार में न लें। शनिवार को जूते-चप्पल का दान किसी गरीब को करेंगे तो शनि के दोष दूर हो सकते हैं।

शनिवार को क्या-क्या करें

– शनिवार को पीपल की पूजा करनी चाहिए। पूजा के बाद सात परिक्रमा करें।

– शनिदेव के लिए काले तिल का दान करें।

– हनुमान के मंदिर में सरसों के तेल का दीपक जलाएं।

YOU MAY LIKE
Loading...