निष्पक्ष न्याय के देवता शनि के कष्ट निवारक उपाय आजमाएं, फिर देखें करिश्मा किस्मत का

भगवान शनिदेव कलियुग में भी निष्पक्ष न्याय में विश्वास करने वाले माने जाते हैं और संतुष्ट होने पर अच्छी किस्मत और भाग्य के साथ अपने भक्त की हर मनोकामना पूरी करके मनवांछित फल प्रदान करते हैं।

shani-dev

पौराणिक कथा के अनुसार सूर्य देव के पुत्र शनि देव की माता का नाम छाया है। सूर्य देव का विवाह प्रजापति दक्ष की पुत्री संज्ञा से हुआ था। विवाह के पश्चात कुछ समय तक दोनों साथ रहे, जिससे उन्हें तीन संतान की प्राप्ति हुई।

 

भगवान सूर्य देव की तीन संतान मनु, यम तथा यमुना हैं लेकिन सूर्य देव के तेज को संज्ञा ज्यादा दिन सहन न कर सकी। जिस कारण एक दिन संज्ञा अपनी छाया को पति सूर्य देव की सेवा में छोड़कर सूर्यलोक से चली गई। उत्तरार्द्ध में छाया के गर्भ से भगवान शनिदेव का जन्म हुआ।

shani-dev

शनि के कष्ट निवारक उपाय आजमाएं, फिर देखें करिश्मा किस्मत का

* नित्य-प्रतिदिन भगवान भोलेनाथ पर काले तिल व कच्चा दूध चढ़ाना चाहिए।

* यदि पीपल वृक्ष के नीचे शिवलिंग हो तो अति उत्तम होता है।

* सुंदरकांड का पाठ सर्वश्रेष्ठ फल प्रदान करता है।

* संध्या के समय जातक अपने घर में गूगल की धूप दे।

* चींटियों को गोरज मुहूर्त में तिल चोली डालना।

* सांप को दूध पिलाना।

* अत्यंत शुभ फल की प्राप्ति के लिए मां भगवती काली की आराधना करें।

* काल भैरव की साधना, मंत्र जप आदि करें।

* भिखारियों को काले उड़द का दान दें।