बच्चियों को व्‍हेल मछली दिखाने के बहाने अपने पास बुलाता था टीचर, मोबाइल पर दिखाता था ‘डर्टी पिक्‍चर’..फिर उसके बाद

बिहार के भागलपुर जिले में एक ऐसा घिनौना मामला सामने आया है जिसे जानने के बाद गुरु-शिष्‍य के पवित्र रिश्‍ते से भरोसा उठ जाएगा। जी हां यहां के एक प्राइमरी स्‍कूल के टीचर पर आरोप लगा है कि वो स्‍कूल में बच्चियों को व्‍हेल मछली दिखाने के बहाने अपने पास बुलाता था और फिर उन्‍हें मोबाइल पर अश्‍लील वीडियो दिखाता था। जब इस बात की शिकायत बच्चियो ने घरवालों से की तो बौखनाए परिजन स्‍कूल पहुंचकर हंगामा करने लगे। हंगामे के बाद आरोपी टीचर ने परिजनों के पैर पकड़कर माफी मांगी जिसके बाद उसे छोड़ दिया गया।

जानिए पूरा मामला – मामला भागलपुर के एक प्राइमरी स्‍कूल का है। इस स्‍कूल में 6 से 10 साल तक की बच्चियां पढ़ती हैं। यहीं पर पढ़ाने वानी टीचर निरंजन कुमार पर आरोप लगा है कि वो बच्चियों के साथ छेड़छाड़ का अरोप लगा है। जानकारी के मुताबिक निरंजन कुमार लड़कियों को मोबाइल पर अश्लील वीडियो दिखाया। कुछ बच्चियों ने वीडियो देखने से इंकार कर दिया और घरवालों से जाकर शिकायत की। गुस्साए ग्रामीण शुक्रवार की सुबह स्कूल पहुंचे।

पंचायत ने फौरन टीचर को निकाल दिया – मामले को बढ़ता देखकर आरोपी टीचर हाथ-पैर जोड़कर माफी मांगने लगा। स्कूल प्रशासन ने भी मामले पर गांववालों से माफी मांगी। पुलिस में शिकायत न करने की बात कही। इसके बाद स्कूल में ही गांववालों ने पंचायत बिठाई। गुस्साए लोगों ने तत्काल टीचर निरंजन कुमार को स्कूल से चले जाने को कहा। उसके चले जाने के बाद स्कूल के हेडमास्टर और अन्य शिक्षक ने मामले को खत्म करने की गुहार लगाई।

बदनामी से बचने के लिए पुलिस में शिकायत नहीं गांववालों ने भी गांव की बदनामी से बचने के लिए पुलिस में शिकायत नहीं की। गांववालों ने टीचर को चेतावनी दी कि अगर अगली बार ऐसा हुआ तो उसे जेल भेजेंगे। पहली बार शिकायत सामने आई है, इसलिए माफ कर दे रहे हैं। हेडमास्टर अनिल कुमार दास ने बताया कि आरोपी टीचर ने माफी मांगी है। ग्रामीणों ने माफ कर दिया है। हमने विभाग को शिक्षक के खिलाफ पत्र लिखा है।