स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने अपने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका,

नई दिल्ली : देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक ने  31 जुलाई को ब्याज दरों में कटौती का ऐलान किया है। स्टेट बैंक ने बचत बैंक खातों के लिए निर्धारित ब्याज को 4 फीसदी से घटाकर 3.5 फीसदी कर दिया है। 

बचत बैंक खातों के ब्याज दर पर कटौती के लिए स्टेट बैंक ने कहा है कि 1 करोड़ रुपये से कम जमा पर अब खाताधारकों को महज 3.5 फीसदी ब्याज दिया जाएगा। वहीं खाते में 1 करोड़ रुपये से अधिक बैलेंस रहने पर पहले की तरह 4 फीसदी का ब्याज दिया जाएगा। वही दूसरी और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समीक्षा 2 अगस्त से शुरू हो रही है।

स्टेट बैंक द्वारा बचत खातों के ब्याज पर की गई यह बड़ी कटौती 31 जुलाई 2017 से लागू हो जाएगी। बैंक के इस फैसले से बैंक खातों में छोटी रकम रखने वाले ग्राहकों को बड़ा नुकसान होगा।

एसबीआई के इस कदम के साथ ही यह ब्याज दर साल 2010 की स्थिति में आ गई है। इस समय तक स्टेट बैंक एक साल की फिक्स्ड डिपॉजिट पर 6.75 फीसद ब्याज दिया करते थे। जुलाई में की गई इस कटौती के बाद 1 साल से लेकर 455 दिनों के बीच की अवधि पर जमा राशि की दर 40 बेसिस प्वाइंट गिरकर 6.5 फीसद हो गई है।

456 दिन से लेकर दो साल के बीच अवधि के जमा में 25 बीपीएस की गिरावट के बाद नई दर 6.5 फीसद हो गई है। निजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई और एचडीएफसी अभी भी एक साल के जमा दर पर 6.9 फीसद की दर से ब्याज दे रहे हैं।

Add a Comment