रवींद्र नाथ टैगोर की विश्वदृष्टि को दर्शाता यह दुर्लभ वीडियो हर भारतीय को देखना चाहिए

0
77

रवींद्र नाथ टैगोर किसी परिचय के मोहताज हैं. वे भारत में आधुनिक सोच के प्रणेता व पहले गैर यूरोपीय नॉबेल पुरस्कार विजेता थे. उनकी कालजयी रचना गीतांजलि को पूरी दुनिया में पढ़ा और सराहा जाता है. वे भारत के एक मात्र ऐसे कवि हैं जिनकी दो रचनाएं दो देशों का राष्ट्रगान बनीं – भारत का राष्ट्र-गान जन गण मन और बांग्लादेश का राष्ट्रीय गान आमार सोनार बांग्ला गुरुदेव की ही रचनाएं हैं.

 


রবীন্দ্রনাথের নিজের কণ্ঠে একটু ভিডিও । সকলের সাথে শেয়ার করুন দেখা শেষ হলে ।
Posted by ¤¤ রবীন্দ্রসঙ্গীত ¤¤ on Monday, February 2, 2015


हम सभी ने उनके बारे में तो बहुत कुछ सुना है, मगर हम कभी भी उन्हें नहीं सुन सके हैं. टैगोर जो एक कवि, लेखक, राष्ट्रप्रेमी, आर्टिस्ट व आज़ादी के दौर के कर्मठ कार्यकर्ता थे. हमारे दौर से पहले ही गुज़र गए और तब टेक्नोलॉजी में आगे न रहने के कारण हमारे पास उनके वक्तव्यों का कोई कोष नहीं है.