जाने श्रीबाबा रामदेव मंदिर के बारे में

0
68

श्रीबाबा रामदेव मंदिर, रुणिचा धाम रामदेवरा (राजस्थान) हाल हुजूर और चमत्कारिक मंदिर विश्‍व प्रसिद्ध है। यहां एक बार जिसने माथा टेक दिया समझों उसकी हर मनोकामना पूर्ण हुई।

‘पीरों के पीर रामापीर, बाबाओं के बाबा रामदेव बाबा’ को सभी भक्त बाबारी कहते हैं। जहां भारत ने परमाणु विस्फोट किया था, वे वहां के शासक थे। हिन्दू उन्हें रामदेवजी और मुस्लिम उन्हें रामसा पीर कहते हैं।

बाबा रामदेव को द्वारिका‍धीश (श्रीकृष्ण) का अवतार माना जाता है। इन्हें पीरों का पीर ‘रामसा पीर’ कहा जाता है। सबसे ज्यादा चमत्कारिक और सिद्ध पुरुषों में इनकी गणना की जाती है। हिन्दू-मुस्लिम एकता के प्रतीक बाबा रामदेव के समाधि स्थल रुणिचा में मेला लगता है, जहां भारत और पाकिस्तान से लाखों की तादाद में लोग आते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here