यह ठेले वाला गोल गप्‍पे खिलाकर पेटीएम से लेता है पेमेंट

इंटरनेट अगर 4G की स्‍पीड से चल रहा है तो लोगों की स्‍मार्टनेस भी इसी स्‍पीड से बड़ रही है। इंटरनेट और सोशल मीडिया के इस दौर मे लोग इतने एडवांस हो गए हैं कि आप सोच भी नही सकते हैं। जनाब हम बात कर रहे हैं बिहार मे एक गोलगप्‍पे बेचने वाले की जिसकी स्‍मार्टनेस देख कर आप हैरान भी हो जाएंगे और उसकी तरीफ किए बिना भी नही रह सकेंगे। क्‍योंकि ये जनाब गोलगप्‍पे खिलाने की पेमेंट भी पेटीएम से रिसीव करते हैं।


पेटीएम के जरिए लेता है पेमेंट
बिहार की राजधानी पटना का नाम भले ही स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल ना हो पर यहां फुटपाथ पर रेड़ी लगाने वाले पहले से ही स्‍मार्ट हैं। पटना में ठेले पर गोलगप्पे बेचने वाले एक युवक की स्मार्टनेस इन दिनो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है। गोलगप्‍पे के ठेले को गरीब किसान का 12वीं पास बेटा सत्यम चलाता है जो अपनी कमाई के पैसों से आगे कॉलेज में नामांकन कराने की तैयारी कर रहा है। वह अपने ग्राहकों से पेटीएम के जरिए पेमेंट लेता है। पटना के प्रतिष्ठित मगध महिला कॉलेज की छात्राएं हों फिर वहां से गुजरने वाले सभी ग्राहक गोलगप्‍पे वाले के फैन हैं।

पेटीएम वॉलेट का चलन तेज
सत्यम बताते हैं कि इससे ग्राहकों से झिकझिक करने की नौबत नहीं आती। कॉलेज की छात्राएं ठेले पर गोलगप्पे खातीं हैं जिसकी पेमेंट वो पेटीएम के जरिए करती हैं। मोबाइल पर पेटीएम एप डाउनलोड करने के बाद उस पर अपना अकाउंट बनाया जाता है। पेटीएम वॉलेट का उपयोग करने के लिए उसमें अपने बैंक अकाउंट से पहले ही कुछ पैसा जमा कर दिया जाता है। पेटीएम सीधे बैंक अकाउंट से जुड़ा एक ई-वॉलेट होता है। इसके जरिए शॉपिंग की जा सकती है। स्मार्टफोन पर इस नई तकनीक के आने के बाद छोटे कारोबारी भी स्मार्ट हो रहे हैं। सर्दी, गर्मी या बरसात मौसम कोई भी हो दिन में मगध महिला कॉलेज के गेट पर गोलगप्पा का ये ठेला लगा रहता है।

Add a Comment