मामी के कमरे में गया भांजा, अचानक से मामी को पीछे से पकड़ा और फिर…उसके बाद तो

उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में अवैध संबंधों के चलते सगा भाई ही अपने छोटे भाई का खूनी बन गया। तीन दिन पूर्व हुई युवक की हत्या का मामला जब उजागर हुआ तो सगे रिस्ते भी खूनी हो गए।

थाना कबरई के ग्राम बबेड़ी में शनिवार की रात हुई छात्र की गोली मारकर हत्या का पुलिस ने बुधवार को खुलासा किया। पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पुलिस अधीक्षक अनीस अहमद अंसारी ने बताया कि युवक की हत्या उसके बड़े भाई रामप्रताप उर्फ वीपी सिंह ने ही की थी।

आरोपी ने कबूला कि मामी से उसके अवैध संबंध थे। साल भर पहले इसकी जानकारी छोटे भाई सुरेंद्र को हो गई थी। वह अवैध संबंध का विरोध करता था। उसके मना करने पर भी यह बात मामा को बता दी थी। बताया कि आठ जुलाई को दोस्त के यहां महोबा गए भाई को उसी दिन फोन कर स्कूल में चोरी करने के लिए बुलाया।

शाम को घर आ रहे भाई को रास्ते से ही लेकर खेत में चला गया। वहां बैठकर रात होने का इंतजार करने लगा। सुरेंद्र खेत की मेड़ पर ही लेट गया। उसकी आंख लग गई तो रामप्रताप ने उसके सिर में गोली मारकर हत्या कर दी थी।

गौरतलब है कि मामी और भांजे के बीच ये अमर्यादित रिस्ता पिछले तीन वर्षों से चल रहा था। आए दिन रामप्रताप फोन पर मामी से अश्लील बातें करता और मौका पाकर हमबिस्तरी भी होता था, लेकिन जब छोटे भाई सुरेंद्र को भाई की इस करतूत का पता चला तो उसने इस रिश्ते को खत्म करने को कहा, लेकिन वह राजी नहीं था।

इस जानकारी पर बड़ा भाई छोटे भाई पर बिफर पड़ा और उसे रास्ते का कांटा समझकर हटाने का मन बना डाला। बस यहीं से बड़े भाई ने छोटे भाई की हत्या की साजिश रच डाली।

Add a Comment