जूनागढ़ का नवाब महबत खान रसूल खान, जो अपने कुत्ते के अनोखे शौक के लिए था प्रसिद्ध!

आजादी से पहले राजा और महाराजाओं का राज था। इनके किस्से हम सभी ने पढ़े और सुने होगें। इन राजा और महाराजा अपने शौक के लिए प्रसिद्ध रहे हैं। इस राजा को कुत्ते पालने का एक अनोखा शौक था।

यह नवाब जूनागढ़ रहने वाले थे इनका नाम नवाब महबत खान रसूल खान हैं। इस नवाब के पास करीब 800 कुत्ते थे।

नवाब महबत खान रसूल खान
नवाब महबत खान रसूल खान

हर कुत्ते के साथ एक अलग व्यक्ति देखभाल के लिए नियुक्त था। नवाब का शौक इतने तक ही नहीं था। वह इन कुत्तों की शादी करवाने का शौक भी था। जिसमें वह काफी पैसा खर्च करते थे। एक बार तो उन्होंने ऐसी एक शादी में भारत के वायसराय को भी आमंत्रित किया था। लेकिन वायसराय शादी में नहीं आए थे।

उस समय इस अनोखी शादी में करीब 22,000 रूपए खर्च होते थे, जो वर्तमान में करीब 2.25 करोड़ रूपए के बराबर हैं। साथ ही जिस दिन शादी होती थी उस दिन राज्य में अवकाश होता था। इस नवाब के अनोखे शौक को लोग पागलपन या सनक समझते थे। लेकिन इस नवाब को अगर सबसे बड़ा पेट लवर कहा जाए तो गलत नहीं होगा।