इस जनजाति के लोग गायों की करते हैं बच्‍चों जैसी परवरिश

0
200
आपने इंसानों को अपनों की सुरक्षा के लिए मरने मारने की बाते तो अक्‍सर सुनी होंगी, लेकिन क्‍या कभी जानवरों के लिए ऐसा सुना है। शायद नहीं लेकिन सूडान देश में रहने वाली मुंदरी जनजाति के लोग अपने जानवरों के लिए जान ले भी और दे भी सकते हैं। 

 
हाल ही में फोटोग्राफर तारिक जैदी ने अपनी तस्‍वीरों के जरिए गायों के प्रति इनका प्‍यार पूरी दुनिया को दिखाया है।

बच्‍चों जैसा प्‍यार:


फोटोग्राफर तारिक जैदी ने हाल ही में सूडान देश में रहने वाली मुंदरी जनजाति के लोगों का एक नया चेहरा पूरी दुनिया के सामने पेश किया। जिसमें एक बड़ी अजीबोगरीब बात देखने को मिली है। यहां पर इस जनजाति के लोग जानवरों को अपने बच्‍चों से ज्‍यादा प्‍यार करते हैं।

मूत्र तक में गुण:


मुंदरी जाति के लोग उनकी सुरक्षा के लिए बड़े-बड़े कदम उठा लेते हैं। वहीं जानवरों में वे सबसे ज्‍यादा प्‍यार व महत्‍व गायों को देते हैं। यहां पर लोग गायों की दिन रात सेवा करते हैं। इनका मानना होता है कि गाय के दूध से लेकर मूत्र तक में अनेक गुण हैं।


साथ में सोते भी:


यहां लोग अपनी कीमती गायों के साथ रात में सोते भी हैं। वह उनसे महज 6-7 फुट की दूरी पर अपनी रात बिताते हैं। फोटोग्राफर को यहां पर लोग गाय के दूध का सीधे सेवन करते भी मिले हैं। इतना ही नहीं यहां पर लोग गो-मूत्र के गुणों का लाभ लेते हुए भी देखे गए।


इंफेक्‍शन नहीं होता:

Loading...

गो-मूत्र में पाया जाने वाला अमोनिया बालों को लाल कर देता है। जिससे लोग इससे अपने बालों को धोते दिखाई दिए। यहां पर लोग रात को गायों को मिट्टी लगाते हैं। उनका मानना है कि इससे गायों को किसी तरह का इंफेक्‍शन नहीं होता है। यहां गायें दहेज में भी दी जाती हैं।

mundari people likes cow too much in sudan

YOU MAY LIKE
Loading...