गजब… सिर कटने के बाद भी 18 महीने जिंदा रहा था ये मुर्गा

0
236
आज से ठीक 70 साल पहले सितंबर महीने के दूसरे हफ्ते में एक अनोखी घटना घटी थी। 10 सितंबर, 1945 को हुई इस घटना ने दुनियाभर के जीव विज्ञानियों को चकित कर दिया। अमेरिका के फ्रूटा कोलोरेडो में एक मुर्गे ने बिना सिर के कई महीनों तक जीवित रहकर पूरी दुनिया को चकित कर दिया था।

कोलोरोडो में फ्रूटा के किसान लॉयल ऑल्सन और उनकी पत्नी क्लारा मुर्गे- मुर्गियों को काट रहे थे। उन्होंने 40-50 मुर्गे- मुर्गियां काटे, लेकिन इनमें से एक मरा नहीं। वह जिंदा था और बिना सिर के भी दौड़ रहा था। धड़ से सिर अलग होने के बावजूद यह मुर्गा 18 माह जिंदा रहा।


पति-पत्नी ने उसे एक बॉक्स में बंद कर दिया। लॉयल ने दूसरे दिन जब बॉक्स खोला तो वह जिंदा था। यह देखकर वह बहुत हैरान था। ऑल्सन ने सिरकटे मुर्गे का नाम माइक रख दिया था। ऑल्सन ने माइक को खाना और पानी पिलाने का भी रास्ता निकाल लिया। वे माइक की भोजन नली में आईड्रापर के जरिए खाना- पानी पहुंचाते थे।

एक दिन किसी काम में बिजी होने के कारण ऑल्सन माइक को खाना-पानी नहीं खिला पाए। दूसरे दिन उसकी मौत हो गई। इस मुर्गे के बारे में उस समय अमेरिकी मीडिया में भी खूब खबरें सामने आई थीं।


वीडियो देखे 

Mike meet everyone, everyone meet Mike. No, no, don’t wave. He can’t see, you’re just making this awkward. Also known as Miracle Mike, Mike the Headless Chicken was a plump, five-year-old cockerel when he was unceremoniously beheaded on 10 September 1945.