क्या आप जानते है की महाभारत के युद्ध के बाद भगवान शिव पांडवों से क्यों छिपते फिर रहे थे? जानिए इसके पीछे की कहानी

9627
Loading...

हम सभी जानते है की जब भी भगवान शिव को क्रोध आता है तो वे दोषी की जीवन लीला समाप्त कर देते है लेकिन एक समय ऐसा भी आया की भगवान शिव को भी छुपना पड़ा और वो भी पाण्डवो से लेकिन ऐसा क्या हुआ की भोलेनाथ को पांडवो से छुपना पड़ा आईये जानते है इसके बारे में ……

भगवान शिव जिनके नाम से भय और मृत्यु डर के भागते है वह भगवान शिव पांडव से छिपते फिर रहे थे। पांडव भगवान शिव को हर जगह तलाश कर रहे थे और भगवान शिव एक ऐसी जगह में ऐसा रूप धारण करके छुप गए थे जो आप सोच भी नहीं सकते लेकिन फिर भी पांडव ने उनको खोज निकाला तो आइये जानते है भगवान शिव पांडव से क्यों छिपते फिर रहे थे।

पांडव ने कुरुक्षेत्र युद्ध में अपने कुल के बड़े बूढ़े, भाई, रिश्तेदार, गुरु सब का वध किया था। इस युद्ध के बाद पांडव को भगवान कृष्ण ने भगवान शिव की पूजा कर उनको भोजन कराने की सलाह दी। पांडव भगवान कृष्ण की बात मानकर भगवान शिव की पूजा और भोजन के लिए कैलाश गए। भगवान शिव वहां नहीं मिले फिर पांडव ने हर जगह शिव की तलाश की लेकिन भगवान शिव कही नहीं मिले।

Loading...

यह बात पांडव ने भगवान कृष्ण को आकर बताई कि भगवान् शिव कही नहीं नज़र आ रहे वो कही अंतर ध्यान हो गए है तब भगवान कृष्ण ने पांडव को कहा कि भगवान शिव अंतर ध्यान नही हुए है बल्कि एक गुफा में छूप गए हैं। उस गुफा के बारे में जानकार पांडव कृष्ण के साथ गुफा गए, जहाँ भगवान् शिव छुपे हुए थे।

भगवान शिव पांडव की आने की बात जानकार उस गुफा से निकल कर भागे लेकिन भगवान कृष्ण ने पहले से ही पांचों पांडव को गुफा के चारो तरफ बैठ रखा था, ताकि भगवान शिव वह से कही न जा सके। भगवान शिव ने जब देखा पांडव ने उनको सब तरफ से घेर रखा है तब सामने चर रहे भैस के झुण्ड में भैस का रूप लेकर घुस गए। जब पांडव और कृष्ण को भगवान शिव नहीं मिले तो भगवान् कृष्ण की नज़र भैस की झुण्ड में गई तब भगवान कृष्ण ने पांचो पांडव से कहा इन सारी भैसों को घेर लो। सारी भैसों को घेरने के बाद कृष्ण की आज्ञा पाकर सारी भैंसों को भीम के पैरो के बीच से निकाला गया।

जो वास्तविक भैंसें थी, वो सारी भीम के पैर के नीचे से निकल गई, लेकिन भगवान शिव भीम के पैरो के नीचे से नहीं गुजरे और इस तरह पकडे गए। जब पांडव ने भगवान शिव के इस छुपने का कारण पूछा तो भगवान शिव ने कहा- तुम अपनी कुल की हत्या करके पाप मुक्त होना चाहते हो, जो मुझे स्वीकार नहीं लेकिन भगवान विष्णु के भक्त हो इसलिए मुझे मजबूर होकर तुम्हारी पूजा स्वीकारनी पड़ेगी इसलिए छिप रहा था। भगवान शिव जब पकडे गए तो उनकी पूजा कर उनको भोजन कराया गया। जिससे पांडव इनके जीव की हत्या करके भी पाप मुक्त हो गए तो यही वो वजह थी भगवान शिव पांडव से क्यों छिपते फिर रहे थे।

YOU MAY LIKE
Loading...