दुनिया में 12 ऐसे मंदिर जो सिर्फ़ आस्था ही नहीं, अपनी कला और बनावट के लिए भी सर्व श्रेष्ठ हैं

0
134

भारत का इतिहास पलट कर देखें तो कई शासकों ने भगवान के प्रति अपनी आस्था दिखाने के लिए बहुत ही सुन्दर और अद्भुत मंदिरों का निर्माण करवाया है इन मंदिरों की डिज़ाइन से पता चलता है कि प्राचीनकाल में हमारे शिल्पकारों को कला और विज्ञान की अद्वितीय समझ थी तो देखते हैं 12 ऐसे मंदिर जो दुनिया में अपनी कला और बनावट के लिए सर्व श्रेष्ठ हैं

1. श्री रंगनाथस्वामी मंदिर, श्रीरंगम, तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु
156 एकड़ में फैला हुआ ये मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा कार्यात्मक मंदिर है इसकी बनावट में द्रविडियन युग की कारीगरी झलकती है हर साल दिसंबर से जनवरी के महीने में यहां मेला लगता है जहां लाखों लोग आते हैं

Source: toptenlive

2. अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली
आधुनिक काल के आर्किटेक्चर का अद्भुत नमूना, अक्षरधाम मंदिर की सुंदरता देखते ही बनती है 7000 कारीगरों की मेहनत से बनाया गया ये मंदिर हर साल लाखों टूरिस्ट्स को अपनी ओर आकर्षित करता है इस मंदिर में 234 अलंकृत स्तंभ हैं, 20,000 से ज़्यादा सुशोभित मूर्तियां हैं और 148 उत्कृष्ट हाथी हैं


Source: airpano

3. थिल्लई नटराज मंदिर, चिदंबरम, तमिलनाडु
भगवान शिव को समर्पित ये मंदिर 2000 सालों से कला और संस्कृति का प्रेरणास्रोत बना हुआ है 12वीं शताब्दी में निर्मित इस मंदिर में पल्लव युग के आर्किटेक्चर की झलकियां साफ़ नज़र आती हैं, अगर आप इस मंदिर में कभी जाएं तो नटराज की “परमानंद का नृत्य” की मूर्ति देखना न भूलें


Source: hindutav

4. मीनाक्षी अम्मन मंदिर, मदुरई, तमिलनाडु
भारत के सबसे प्रतिष्ठित मंदिरों में से एक, मीनाक्षी मंदिर, मदुरई के बीचों-बीच स्थित है, इस 2500 साल पुराने शहर में लोग खासकर इस मंदिर के लिए ही आते हैं यहां 33,000 से ज़्यादा सुसज्जित मूर्तियां हैं और मंदिर के द्वार पर बहुत ही अद्भुत “गोपुरम” बने हुए हैं


Source: hindutav

5. बेलूर मठ, कोलकाता, पश्चिम बंगाल
हुगली नदी के तट पर निर्मित बेलूर मठ, स्वामी विवेकानन्द के रामकृष्ण मठ और मिशन का मुख्यालय भी है इस मंदिर की विशिष्टता है कि इसकी बनावट में आपको हिन्दू, ईसाई और मुस्लिम आर्किटेक्चर के अंश दिख जायेंगे, जो साम्प्रदायिक एकता का प्रतीक है


Source: bestourism

6. जगन्नाथ मंदिर, पुरी, ओड़िसा
ये प्रसिद्ध मंदिर ओड़िसा की महानदी पर स्थित है, यहां की सबसे बड़ी खासियत है भगवान जगन्नाथ की मूर्ति आमतौर से हिन्दू मंदिरों में मूर्ति पत्थर या धातु की बनी होती है, लेकिन इस मंदिर की मूर्ति नीम की छाल से बनी है जो हर 12 सालों में बदल दी जाती है


Source: go2india

7. लक्ष्मीनारायण मंदिर, दिल्ली
7.5 एकड़ में फैला हुआ ये मंदिर दुनिया के सबसे बड़े हिन्दू मंदिरों में से एक है, इसे बिरला परिवार ने बनवाया था और इसका उदघाटन, महात्मा गांधी ने किया था लेकिन उनकी एक शर्त थी और वो ये कि इस मंदिर के द्वार किसी भी समुदाय के लिए खुले रहेंगे.


Source: top-img

8. बृहदीश्वरर मंदिर, तंजावुर, तमिलनाडु
UNESCO ने इस मंदिर को सबसे महान चोला मंदिरों की सूची में रखा है ये दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर है जो ग्रेनाइट से बना है 2010 में इस उत्कृष्ट मंदिर ने 1000 साल पूरे किये हैं एक बड़ी खूबी जो इस मंदिर की है वो ये है कि इस पर सबसे ऊंचा “विमानम्” स्थित है जो 216 फ़ीट पर है


Source: arounddeglobe

9. सिद्धिविनायक मंदिर, मुंबई, महाराष्ट्र
किसी फ़िल्मस्टार की फ़िल्म रिलीज़ हो रही हो या किसी नेता को भगवान से वोट की गुहार लगानी ही, सब इसी मंदिर में माथा टेकने आते हैं। सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई का सबसे समृद्ध मंदिर है इसके नाम का अर्थ ही है “गणेश, जो आपकी सारी मनोकामना पूरी करे” तभी यहां हर दिन इतनी भीड़ रहती है


Source: insightsindia

10. गुरुवायुर श्री कृष्णा मंदिर, त्रिशूर, केरल
इस मंदिर को धरती पर भगवान विष्णु का पवित्र आवास माना जाता है। कृष्णा का ये मंदिर त्रिशूर के हरे-भरे शहर में स्थित है, कहा जाता है कि इसका निर्माण 3000 साल ईसा पूर्व में हुआ था 1970 में आग लगने के बाद इसे फिर से निर्मित किया गया था और इसके आर्किटेक्चर में केरल के मंदिरों की झलक दिखती है इस मंदिर के अंदर की कलाकृतियां और कृष्णा की मूर्ति किसी को भी वशीभूत कर सकती है


Source: wikimedia

11. तिरुमाला वेंकटेश्वरा मंदिर, तिरुपति, आंध्रप्रदेश
तिरुपति का ये मंदिर, दुनिया का सबसे अमीर मंदिर है भगवान वेंकटेश्वरा को समर्पित ये मंदिर समृद्धि का प्रतीक है हर साल दुनिया भर से यहां लाखों लोग भगवान वेंकटेश्वरा के आशीर्वाद के लिए आते हैं

 


Source: knowrealindia

12. सोमनाथ मंदिर, सौराष्ट्र, गुजरात
सोमनाथ मंदिर ने भारत के स्वर्ण युग को भी देखा है और मुग़लों के राज में अपना विनाश भी देखा है लेकिन जितनी बार भी सोमनाथ मंदिर पर हमला हुआ है, वो उतनी बार ही फिर उठ खड़ा हुआ है सोमनाथ मंदिर की पुनरुत्थान की क्षमता असीम है गुजरात के टूरिज़्म को बढ़ावा देने में इस मंदिर का नाम सबसे ऊपर है। इस मंदिर की अभी की बनावट चालुक्य वंश से प्रेरित है


Source: speakingtree

तो आप इनमें से कितने मंदिरों में आशीर्वाद लेने गए हैं? कमेंट करके बताएं और सबसे साथ इस आर्टिकल को शेयर करें
This article is curated from grabhouse
Feature Image Source: freekaamaal