एक बौद्ध भिक्षु से Laughing Buddha बनने की कहानी , जो आप नही जानते होंगे

गौतम बुद्ध ने सम्पूर्ण विश्व को प्रेम और शांति का मार्ग बताने के लिए अपने राजसी ठाट बाट को पूर्णत त्यागकर बोध की खोज में निकल पड़े, बहुत से लोगो को प्रेम और शांति का सन्देश देने वाले बुद्ध पूरी दुनिया के लिए प्रेरणा का एक स्त्रोत बने ,कहि कहि तो लोग बुद्ध को ही Laughing Buddha मानने की गलती कर लेते है परन्तु ये बिलकुल भी सच नही है | Laughing Buddha, सुख, शांति, वैभव, और वस्तुशास्त्र के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है ये सब जानते है
परन्तु क्या आप जानते है ‘एक सच्ची कहानी एक आम व्यक्ति से Laughing Buddha’ बनने की कहानी ‘? आईये हमें आपको बताते है की एक चीनी भिक्षु से Laughing Buddha बनने की कहानी ……………

आईये हम आपको चीनी इतिहास के कुछ पन्नो पर ले चलते है,Liang Dynasty के वक्त Budai नाम के एक Chan भिक्षु थे| उनका सही नाम Quicei था परन्तु सब उन्हें Budai कहते थे | budai हमेशा अलग अलग गावों में घुमते रहते थे और बुद्ध के अनुसरण के कारण हमेशा, बच्चो में खिलौने और मिठाईयां बांटते रहते थे , कहा जाता है की उनके पास भी सांता क्लूस की तरह ही एक बड़ा सा झोला रहता था जिसे वो अपनी पीठ पर टांगकर चलते थे, उनका झोला कभी खाली नहीं रहता था, ज़रूरतमंदों के लिए हमेशा उसमें कुछ न कुछ ज़रूर रहता था. Budai के जीवन का एक ही मकसद था, ख़ुशियां बांटना. इसी वजह से Budai को ‘Pu-tai’ भी कहा जाता था |

Loading...

Laughing Buddha को Maitreya, यानि कि भविष्य के बुद्ध कहा जाने लगा, ऐसा माना जाता है कि बुद्ध भविष्य में Maitreya रूप में जन्म लेंगे और Budai उन्हीं के अवतार थे , वे हमेशा हंसते ,मुस्कुराते रहते थे इसीलिये उन्हें Laughing Buddha कहा जाने लगा | उनकी हंसी इंतनी मनमोहक और प्यारी थी की कोई भी उन्हें देखकर मुस्कराये बिना नही रह सकता था | Budai ने दुनिया के परम सत्य को जान लिया था की प्रेम बाटने से ही स्वयं को प्रेम की प्राप्ति होती

 है ,उन्हें ये ज्ञात होगया था की अब मेरी मुत्यु निकट है तो उन्होंने अपने साथी जनों से कहा की उनकी मृत्यु के बाद उन्हें अग्नि को समर्पित किया जाये | यह जानकर सभी अचम्भे में पड गये क्योकि जैन मान्यता के अनुसार, म्रत्यु के उपरांत दाह संस्कार नही किया जाता है | जब उनकी मृत्यु पर उन्हें जलाया गया तो अग्नि से पटाखे फूटने लगे और सब लोगो के चहरे पर फिर से हंसी आ गयी उनके परमात्मा के पास जाने का गम ज़रा कम सा हो गया वे जाते जाते भी सदा हंसते रहने की सींख दे गये |

Laughing Buddha, को ‘Buddha of Wealth’ के रूप में भी जाना जाता है , ये माना जाता है की Laughing Buddha को घर में रखने से सुख और समृद्धि आती है|

YOU MAY LIKE
Loading...