सबसे बड़ा हॉन्टेड जंगल – इस जंगल में एक लकड़हारे की सर कटी लाश घूमती है, कुर्स‌ियांग के जंगल

दार्जलिंग पश्चिम बंगाल में है। कुर्स‌ियांग दार्जल‌िंग का एक ह‌िल स्टेशन है। इसकी ऊंचाई 4864 फ़ीट है। दार्जिलिंग से सिर्फ 30 किमी की दूरी पर बहुतायत में खिले सफेद ऑर्किंड के आकर्षक फूलों से सुसज्जित एक छोटा सा पर्यटक स्‍थल है। कहते हैं कि दिन में यहां प्राकृतिक सौंदर्य बिखरा रहता है लेकिन रात में एक शैतान घुमता है।

कुछ लोगों की मान्यता अनुसार अंग्रेजी में ‘कर्स’ का मतलब होता है शाप। इसी कर्स शब्द से इस जगह नाम पड़ा है कुर्स‌ियांग यानी शाप‌ित जगह। कुर्शियांग का स्थानीय नाम खरसांग है जिसका मतलब होता है ‘सफेद आर्किड की भूमि।’

कुर्सियांग मुख्यतः अपने बोर्डिंग स्कूलों और पर्यटन के लिए जाना जाता है। पर कुर्शियांग से लगती डाउ हिल से एक भयानक मान्यता जुड़ी हुई है। हालांकि इसमें कितनी सचाई है यह बताना मुश्किल है।

कहते हैं कि डाउ हिल के जंगलों में बड़ी संख्या में आत्म हत्याएं की गई है। इस जंगल में इधर उधर इंसानों की हड्डियां दिखाई देना आम बात है। इसलिए ही इसे हॉन्टेड माना जाने लगा होगा। यहां के स्थानीय लोगों के अनुसार दिसंबर से मार्च तक की छुट्टियों के दौरान उन्हें विक्टोरिया बॉयज स्कूल में पैरों कि आहट सुनाई देती है।

कुछ की मान्यता अनुसार एक लकड़हारे ने रात में एक युवा लड़के की सर कटी लाश को घूमते हुए देखा था जो कुछ दूर जाकर पेड़ों में गायब हो गई थी। स्थानीय मान्यता अनुसार रात के समय डाउ ह‌िल के जंगलों में जाना मौत को न‌िमंत्रण देना है। डाउ ह‌िल के अलावा यहां के कुछ और भी स्‍थान है जो हॉन्टेड माने जाते हैं।