कार्ल मार्क्स के अनमोल विचार Karl Marx Quotes in Hindi

0
27

Quote 1: From each according to his abilities, to each according to his needs.
हर किसी से उसकी क्षमता के अनुसार , हर किसी को उसकी ज़रुरत के अनुसार

http://www.gajabdunia.com marx-racist
http://www.gajabdunia.com marx-racist

Quote 2: History repeats itself, first as tragedy, second as farce.

इतिहास खुद को दोहराता है , पहले एक त्रासदी की तरह , दुसरे एक मज़ाक की तरह .

Quote 3: Anyone who knows anything of history knows that great social changes are impossible without feminine upheaval. Social progress can be measured exactly by the social position of the fair sex, the ugly ones included.

कोई भी जो इतिहास की कुछ जानकारी रखता है वो ये जानता है कि महान सामाजिक बदलाव बिना महिलाओं के उत्थान के असंभव हैं . सामाजिक प्रगति महिलाओं की सामजिक स्थिति, जिसमे बुरी दिखने वाली महिलाएं भी शामिल हैं ; को देखकर मापी जा सकती है ,

Quote 4: Democracy is the road to socialism.

लोकतंत्र समाजवाद का रास्ता है .

Quote 5: Capital is dead labor, which, vampire-like, lives only by sucking living labor, and lives the more, the more labor it sucks.

पूँजी मृत श्रम है , जो पिशाच की तरह केवल जीवित श्रमिकों का खून चूस कर जिंदा रहता है , और जितना अधिक ये जिंदा रहता है उतना ही अधिक श्रमिकों को चूसता है .

Quote 6: Workers of the world unite; you have nothing to lose but your chains.

दुनिया के मजदूरों एकजुट हो जाओ ; तुम्हारे पास खोने को कुछ भी नहीं है ,सिवाय अपनी जंजीरों के

Quote 7: Religion is the opium of the masses.

धर्म लोगों का अफीम है .

Quote 8: Religion is the impotence of the human mind to deal with occurrences it cannot understand.

धर्म मानव मस्तिष्क जो न समझ सके उससे निपटने की नपुंसकता है .

यह भी पढिये -हर मौसम में रंग बदलती है ये नदी ,प्रकृति की गज़ब कला देखकर दंग रह जायेंगे आप

Quote 9: Let the ruling classes tremble at a communist revolution. The proletarians have nothing to lose but their chains. They have a world to win. Workingmen of all countries, unite!

शाशक वर्ग को कम्युनिस्ट क्रांति के डर से कांपने दो . मजदूरों के पास अपनी जंजीरों के आलावा और कुछ भी खोने को नहीं है . उनके पास जीतने को एक दुनिया है . सभी देश के कामगारों एकजुट हो जाओ।

Quote 10: Social progress can be measured by the social position of the female sex.

सामाजिक प्रगति समाज में महिलाओं को मिले स्थान से मापी जा सकती है .

Quote 11: The theory of Communism may be summed up in one sentence: Abolish all private property.

साम्यवाद के सिद्धांत का एक वाक्य में अभिव्यक्त किया जा सकता है: सभी निजी संपत्ति को ख़त्म किया जाये .

Quote 12: For the bureaucrat, the world is a mere object to be manipulated by him.

नौकरशाह के लिए दुनिया महज एक हेर-फेर करने की वस्तु है .

Quote 13: History does nothing; it does not possess immense riches, it does not fight battles. It is men, real, living, who do all this.

इतिहास कुछ भी नहीं करता . उसके पास आपार धन नहीं होता , वो लड़ियाँ नहीं लड़ता . वो तो मनुष्य हैं, वास्तविक , जीवित , जो ये सब करते हैं .

Quote 14: The meaning of peace is the absence of opposition to socialism.

शांति का अर्थ साम्यवाद के विरोध का नहीं होना है .

Quote 15: If anything is certain, it is that I myself am not a Marxist.

अगर कोई चीज निश्चित है तो ये कि मैं खुद एक मार्क्सवादी नहीं हूँ .

Quote 16: Necessity is blind until it becomes conscious. Freedom is the consciousness of necessity.

ज़रुरत तब तक अंधी होती है जब तक उसे होश न आ जाये . आज़ादी ज़रुरत की चेतना होती है .

Quote 17: The only antidote to mental suffering is physical pain.

मानसिक पीड़ा का एकमात्र मारक शारीरिक पीड़ा है .

यह भी पढिये – दुनिया के 20 सबसे खुबसूरत रास्ते, जिनकी सुन्दरता आप के मन को मोह लेगी – देखिये तस्वीरे

Quote 18: Capitalist production, therefore, develops technology, and the combining together of various processes into a social whole, only by sapping the original sources of all wealth – the soil and the labourer.

इसलिए पूंजीवादी उत्पादन टेक्नोलोजी विकसित करता है , और तरह-तरह की प्रक्रियाओं को सम्पूर्ण समाज में मिला देता है; पर ऐसा वो सिर्फ संपत्ति के मूल स्रोतों – मिटटी और मजदूर को सोख कर कर करता है .

Quote 19: In bourgeois society capital is independent and has individuality, while the living person is dependent and has no individuality.

पूंजीवादी समाज में पूँजी स्वतंत्र और व्यक्तिगत है , जबकि जीवित व्यक्ति आश्रित है और उसकी कोई वैयक्तिकता नहीं है .

Quote 20: The production of too many useful things results in too many useless people.

बहुत सारी उपयोगी चीजों के उत्पादन का परिणाम बहुत सारे बेकार लोग होते हैं .

http://www.gajabdunia.com marx-racist
http://www.gajabdunia.com marx-racist

Quote 21: The rich will do anything for the poor but get off their backs.

अमीर गरीब के लिए कुछ भी कर सकते हैं लेकिन उनके ऊपर से हट नहीं सकते .

Quote 22: Experience praises the most happy the one who made the most people happy.

अनुभव सबसे खुशहाल लोगों की प्रशंशा करता है , वे जिन्होंने सबसे अधिक लोगों को खुश किया .

Quote 23: The first requisite for the happiness of the people is the abolition of religion.

लोगों की ख़ुशी के लिए पहली आवश्यकता धर्म का अंत है .

Quote 24: Without doubt, machinery has greatly increased the number of well-to-do idlers.

बिना किसी शक के मशीनों ने समृद्ध आलसियों की संख्या बहुत अधिक बढ़ा दी है .

Quote 25: It is absolutely impossible to transcend the laws of nature. What can change in historically different circumstances is only the form in which these laws expose themselves.

यह बिल्कुल असंभव है कि प्रकृति के नियमों से ऊपर उठा जाए . जो ऐतिहासिक परिस्थितियों में बदल सकता है वह महज वो रूप है जिसमे ये नियम खुद को क्रियान्वित करते हैं .

Quote 26: Capital is reckless of the health or length of life of the laborer, unless under compulsion from society.

पूँजी मजदूर की सेहत या उसके जीवन की लम्बाई के प्रति लापरवाह है ,जब तक की उसके ऊपर समाज का दबाव ना हो .

Quote 27: Religion is the sigh of the oppressed creature, the heart of a heartless world, and the soul of soulless conditions. It is the opium of the people.

धर्म दीन प्राणियों का विलाप है , बेरहम दुनिया का ह्रदय है और निष्प्राण परिस्थितियों का प्राण है . यह लोगों का अफीम है .

Quote 28: Society does not consist of individuals but expresses the sum of interrelations, the relations within which these individuals stand.

समाज व्यक्तियों से नहीं बना होता है बल्कि खुद को अंतर संबंधों के योग के रूप में दर्शाता है, वो सम्बन्ध जिनके बीच में व्यक्ति खड़ा होता है .

Quote 29: We should not say that one man’s hour is worth another man’s hour, but rather that one man during an hour is worth just as much as another man during an hour. Time is everything, man is nothing: he is at the most time’s carcass.

हमें ये नहीं कहना चाहिए कि एक आदमी के एक घंटे की कीमत दूसरे आदमी के एक घंटे के बराबर है , बल्कि ये कहें कि एक घंटे के दौरान एक आदमी उतना ही मूल्यवान है जितना कि एक घंटे के दौरान कोई और आदमी . समय सबकुछ है , इंसान कुछ भी नहीं : वह अधिक से अधिक समय का शव है .

Quote 30: The history of all previous societies has been the history of class struggles.

पिछले सभी समाजों का इतिहास वर्ग संघर्ष का इतिहास रहा है.

http://www.gajabdunia.com marx-racist
http://www.gajabdunia.com marx-racist

Quote 31: Reason has always existed, but not always in a reasonable form.

कारण हमेशा से अस्तित्व में रहे हैं , लेकिन हमेशा उचित रूप में नहीं .

Quote 32: Landlords, like all other men, love to reap where they never sowed.

ज़मींदार , और सभी लोगों की तरह, वहां से काटना पसंद करते हैं जहाँ उन्होंने कभी बोया नहीं .

Quote 33: Nothing can have value without being an object of utility.

बिना उपयोग की वस्तु हुए किसी चीज की कीमत नहीं हो सकती .

Quote 34: Revolutions are the locomotives of history.

क्रांतियाँ इतिहास के इंजिन हैं .

Quote 35: The writer must earn money in order to be able to live and to write, but he must by no means live and write for the purpose of making money.

जीने और लिखने के लिए लेखक को पैसा कमाना चाहिए , लेकिन किसी भी सूरत में उसे पैसा कमाने के लिए जीना और लिखना नहीं चाहिए .

Quote 36: A specter is haunting Europe – the specter of communism.

एक भूत यूरोप को सता रहा है – साम्यवाद का भूत .

यह भी पढिये – भारत का ‘स्‍कॉटलैंड’ है ये शहर, जिंदगी में एक बार जरूर जाये घूमने

Quote 37: Machines were, it may be said, the weapon employed by the capitalists to quell the revolt of specialized labor.

शायद ये कहा जा सकता है कि मशीनें विशिष्ट श्रम के विद्रोह को दबाने के लिए पूंजीपतियों द्वारा लगाए गए हथियार हैं .

Quote 38: The ideas of the ruling class are in every epoch the ruling ideas, i.e., the class which is the ruling material force of society, is at the same time its ruling intellectual force.

शाशक वर्ग के विचार हर युग में सत्तारूढ़ विचार होते हैं, यानि जो वर्ग समाज की भौतिक वस्तुओं पर शाशन करता है , उसी समय में वह उसके बौद्धिक बल पर भी शाशन करता है।

Quote 39: The product of mental labor – science – always stands far below its value, because the labor-time necessary to reproduce it has no relation at all to the labor-time required for its original production.

मानसिक श्रम का उत्पाद – विज्ञान – हमेशा अपने मूल्य से कम आँका जाता है , क्योंकि इसे पुनः उत्पादित करने में लगने वाले श्रम-समय का इसके मूल उत्पादन में लगने वाले श्रम-समय से कोई सम्बन्ध नहीं होता .

Quote 40: Medicine heals doubts as well as diseases.

चिकित्सा संदेह तथा बीमारी को भी ठीक करती है .

http://www.gajabdunia.com marx-racist
http://www.gajabdunia.com marx-racist

Quote 41: The development of civilization and industry in general has always shown itself so active in the destruction of forests that everything that has been done for their conservation and production is completely insignificant in comparison.

सभ्यता और आमतौर पे उद्योगों के विकास ने हमेशा से खुद को वनों के विनाश में इतना सक्रीय रखा है कि उसकी तुलना में हर एक चीज जो उनके संरक्षण और उत्पत्ति के लिए की गयी है वह नगण्य है .

Quote 42: The writer may very well serve a movement of history as its mouthpiece, but he cannot of course create it.

लेखक इतिहास के किसी आन्दोलन को शायद बहुत अच्छी तरह से बता सकता है, लेकिन निश्चित रूप से वह इसे बना नहीं सकता .

Quote 43: While the miser is merely a capitalist gone mad, the capitalist is a rational miser.

जबकि कंजूस मात्र एक पागल पूंजीपति है, पूंजीपति एक तर्कसंगत कंजूस है .

Quote 44: Men’s ideas are the most direct emanations of their material state.

लोगों के विचार उनकी भौतिक स्थिति के सबसे प्रत्यक्ष उद्भव हैं.

Quote 45: The more the division of labor and the application of machinery extend, the more does competition extend among the workers, the more do their wages shrink together.

जितना अधिक श्रम का विभाजन और मशीनरी का उपयोग बढ़ता है , उतना ही श्रमिकों के बीच प्रतिस्पर्धा बढती है , और उतनी ही उनका वेतन कम होता जाता है।