इस कलाकार द्वारा तराशी गई अद्भुत मूर्तियां आपको एक साथ परेशान और आश्चर्यचकित कर देंगी

0
104
ब्रूकलिन के रहने वाली मूर्ति कलाकार केट क्लार्क की कृतियां इनके दर्शन करने वालों से दिमाग की अपेक्षा रखती हैं, इसलिए मैं पहले ही बता देना चाहता हूं कि यदि आपके पास दिमाग न हो तो आगे न बढ़ें. दूर से देखने में ये मूर्तियां कुछ और दिखती हैं और नज़दीक से कुछ और. अब आगे की कहानी और मर्म जानने के लिए तो आपको आगे ही बढ़ना पड़ेगा…

इन जानवरों के चेहरे हूबहू इंसान से मेल खाते हैं…

केट बताती हैं कि जानवर के चेहरे पर एक मानव चेहरे की कल्पना करने के बाद प्रतिमूर्ति बनाई जाती है. फिर जानवर के शरीर से चमड़े को काटकर उसे चेहरे पर इस तरह फिट किया जाता है कि वो सम्पूर्ण लगे. तत्पश्चात् कान और सींघ लगाए जाते हैं, और रबर की आंखें लगाई जाती हैं ताकि नेचुरल फील बचा रहे…
ऐसी एक-एक प्रतिमूर्ति बनाने में उन्हें महीनों लग जाते हैं…
इसके लिए वे स्टिचिंग (टाके) और पिनों का सहारा लेते हैं..

केट बताती हैं कि यह आइडिया उनके दिमाग में तब आया था जब वे उनके ग्रेजुएशन के दिनों में थीं. शुरुआत में तो उन्हें इस बात का कतई अंदाज़ा नहीं था कि उन्हें कैसा रिस्पॉन्स मिलेगा, मगर एक बार जो उन्हें रिस्पॉन्स आने शुरु हुए तो फिर रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे.

केट की कलाकारी लोगों को एक साथ सोचने और आश्चर्यचकित करने के लिए काफ़ी हैं, तो आप भी इनका मज़ा लीजिए. और इस आश्चर्य भरी कलाकृतियों को अपने दोस्तों के साथ साझा करिए.