जिन्दगी से परेशान युवक ने अक्षय की फिल्म “टॉयलेट एक प्रेम कथा” से ली प्रेरणा, बीवी मिलने की उम्मीद में बनवा रहा है टॉयलेट

लपेटो : देश में जिस रफ्तार से लिंगानुपात के आंकड़े गिर रहे है उस हिसाब से तो लव मैरिज के इस ज़माने में माँ बाप की मर्ज़ी से भी लड़की ढूंढने पर भी नहीं मिलेगी और माना की मिल भी गयी तो उसकी कई तरह की शर्ते होगी जिनको मंहगाई के इस दोर में पूरा करना हर किसी के लिए आसन नहीं होगा ।

ऐसी ही कुछ परेशानियों से जुझ रहे है हमारे कैलाश, इनका सपना है एक सफल बिज़नजमेन बनना और इसके लिए पिछले कई वर्षो से मेहनत भी कर रहे है लेकिन कहते है की किस्मत से ज्यादा और समय से पहले किसी को कुछ नहीं मिलता है । अंततः कैलाश को बैंक में ही पर्सनल लोन एग्जीक्यूटिव की नोकरी से ही संतोष करना पड़ा। अब बिज़नसमेन बनने की कोशिश में पता ही नहीं चला की कब शादी की उम्र हो गयी, इसी के चलते कोई लड़की उससे ब्याह रचाने को तैयार नहीं है, सबकी मांग है कि लड़के के पास सरकारी नोकरी हो।

Loading...

जीवनसाथीडॉटकॉम पर घंटो लडकियों की प्रोफाइल देखने के बाद कैलाश ने अपने फेवरेट हीरो अक्षय कुमार की फिल्म ”टॉयलेट एक प्रेम कथा देखने का मन बनाया।” फिल्म देखने के बाद उसने सोचा ”मैं भी घर के बाहर एक टॉयलेट बनवा देता हूँ शायद वही देख कोई लड़की मुझे भी पसंद कर ले।” और इसी चक्कर में मोदी जी के स्वच्छ भारत मिशन में भी योगदान हो जायेगा ।

उसने घर के बाहर आँगन में खुद ही ईंट इकठ्ठा करनी शुरू कर दी। जब माँ बाप ने पूछा कि ”ये तू क्या कर रहा है?” उसने जवाब दिया कि ”अब यही आखिरी रास्ता बचा है बहु लाने का, कोई तो लड़की होगी जिसने टॉयलेट न होने के कारण कोई रिश्ता ठुकराया होगा, वो ही खुद शादी का रिश्ता ले आए। मैं घर के बाहर टॉयलेट बनवा कर रखूँगा तो सबको पता रहेगा कि हमारे घर में टॉयलेट है।”

वहीँ दूसरी खबर आई है कि आजमगढ के सलीम मिया भी नया टॉयलेट बनवा रहे हैं और पड़ोसी कयास लगा रहे हैं कि शायद सलीम मिया दूसरी बीवी लाने की तैयारी में हैं। लपेटो के रिपोर्टर ने जब सलीम से बात करने की कोशिश की तो सलीम मिया ने इस बात पर किसी भी तरह की सफाई देने से इंकार कर दिया और कहा ”मियाँ चुप रहो! शबनम से पिटवाओगे क्या?”

डिसक्लेमरः इस खबर में कोई सच्चाई नहीं है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है।

YOU MAY LIKE
Loading...