पूरी दुनिया में रोज़ आते है लगभग 9000 भूकम्प , जानिए भूकंप के बारे में गज़ब की जानकारी

प्रकृति हर जगह अपना नया रंग दिखाती है | कही हम देखते है की बाढ़ से लोग परेशान है तो कही बहुत अच्छी हरियाली फैली है | ऐसे ही प्रकृति के प्रकोप के रूप में हम कितनी ही जगह भूकंप को आते देखते है और इन भूकम्पो के कारण कितने ही लोग बेघर और लाचार हो जाते है मगर क्या आप जानते है पूरी दुनिया में हर दिन लगभग 9000 भूकंप आते है ऐसा हम हमारी मर्जी से नही कह रहे है | रेक्‍टर स्‍केल पर दुनिया भर में रोजाना 9,000 भूकंप दर्ज किए जाते हैं | आईये जानते है इनके बारे में …..

भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया
भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया

1.भूकंप आते हैं परन्तु महसूस नहीं होते~
माइक्रो और माइनर कैटेगरी के भूकंप रेक्‍टर स्‍केल पर प्रति दिन दुनियाभर में 9,000 दर्ज किए जाते हैं| रेक्‍टर स्‍केल पर 2.0 से कम तीव्रता वाले भूकंप को माइक्रो कैटेगरी में रखा जाता है और यह भूकंप महसूस नहीं किए जा सकते है | रेक्‍टर स्‍केल पर माइक्रो कैटेगरी के 8,000 भूकंप दुनियाभर में रोजाना दर्ज किए जाते हैं | इसी तरह 2.0 से 2.9 तीव्रता वाले भूकंप को माइनर कैटेगरी में रखा जाता है| ऐसे 1,000 भूकंप प्रतिदिन आते हैं इसे भी सामान्‍य तौर पर हम महसूस नहीं करते|

भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया
भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया

2.नही पहुंचता है नुकसान~
एक अंदाजे के अनुसार, हर साल रेक्‍टर स्‍केल पर वेरी लाइट और लाइट कैटेगरी के 55,200 भूकंप दर्ज किए जाते हैं| एक साल में 49,000 वेरी लाइट कैटेगरी के भूकंप 3.0 से 3.9 तीव्रता वाले होते हैं| इन्‍हें महसूस तो किया जाता है लेकिन शायद ही इनसे कोई नुकसान पहुंचता है| इसी तरह एक साल में 4.0 से 4.9 तीव्रता वाले 6,200 लाइट कैटेगरी के भूकंप दुनिया भर में रेक्‍टर स्‍केल पर दर्ज किए जाते हैं| इन झटकों को महसूस किया जाता है और इनसे घर के सामान हिलते नजर आते हैं,मगर इनसे न के बराबर ही नुकसान होता है |

भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया
भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया

3.तबाही 160 किमी तक पहुँचती है~
मॉडरेट और स्‍ट्रांग कैटेगरी के 920 भूकंप एक साल में रेक्‍टर स्‍केल पर दर्ज होते हैं. मॉडरेट कैटेगरी के भूकंपों की तीव्रता रेक्‍टर स्‍केल पर 5.0 से 5.9 दर्ज की जाती है. ऐसे 800 भूकंप दुनियाभर में रेक्‍टर स्‍केल पर एक साल में दर्ज होते हैं. इनसे घटिया बिल्डिंग मैटेरियल से निर्मित भवनों को गंभीर नुकसान पहुंचता है. हालांकि इनका असर बहुत छोटे इलाके पर ही पड़ता है. स्‍ट्रांग कैटेगरी के भूकंप जिनकी तीव्रता रेक्‍टर स्‍केल पर 6.0 से 6.9 होती है, भारी तबाही होती है. जबरदस्‍त तीव्रता की वजह से भूकंप के केंद्र से लेकर 160 किमी तक आबादी वाले इलाकों में तबाही फैल जाती है. एक साल ऐसे 120 भूकंप दुनियाभर के रेक्‍टर स्‍केल में दर्ज किए जाते हैं|

भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया
भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया

4.कुछ 19 बार तो कुछ साल में एक बार आते हैं~
मेजर और ग्रेट कैटेगरी के भूकंप दुनियाभर के रेक्‍टर स्‍केल पर साल में 19 बार दर्ज किए जाते हैं| मेजर कैटेगरी के भूकंपों की तीव्रता 7.0 से 7.9 तक के लगभग होती है| ऐसे भूकंपों की संख्‍या साल भर में 18 होती है और इनसे काफी बड़े क्षेत्रों में गंभीर तबाही होती है| रेक्‍टर स्‍केल पर 8.0 से 8.9 तीव्रता वाले भूकंप ग्रेट कैटेगरी में रखे जाते हैं| ऐसे झटकों से कुछ सौ मील तक तबाही ही तबाही पसर जाती है, मगर ऐसे भूकंप साल में एक बार ही दर्ज किए जाते हैं|

भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया
भूकंप के बारे में जानकारी , गज़ब दुनिया

5.हजारों मील तक मच जाती है तबाही~
रेक्‍टर स्‍केल पर 9.0 से 9.9 तीव्रता वाले भूकंप एक्‍सट्रीम कैटेगरी में आते हैं| इनसे हजारों मील तक तबाही का मंजर पसर जाता है| ऐसे भूकंप के असर से अलग-अलग महाद्वीप तक प्रभावित हो सकते हैं| हालांकि ऐसे भूकंप दुनियाभर में 20 साल में एक बार ही दर्ज किए जाते हैं|

6.ऐसा भूकंप आए कभी ना आये तो अच्छा है ~
रेक्‍टर स्‍केल पर 10.0 या इससे ज्‍यादा तीव्रता वाले भूकंप को एपिक कैटेगरी में रखा गया है| अभी तक इस तरह का भूकंप दर्ज नहीं किया गया है|

Add a Comment