भारत के इस स्विट्जरलैंड को देखकर आप भूल जाएंगे यूरोप का स्विट्जरलैंड

भारत एक ऐसा देश है जहा खुबसुरती हर तरफ भरी पड़ी है, जम्मू कश्मीर से लेकर कन्या कुमारी तक और गोआटी से लेकर चोपाटी तक, कहा जाया तो भारत भी किसी स्विट्जरलैंड से कम नहीं है । हिमालय की खुबसूरत वादियों में बसा एक राज्य जहा प्रकृति अपने सुन्दरता का कहर बरपा रही है, यहाँ की खूबसूरती इतनी है की इसे भारत का स्विट्जरलैंड भी कहा जाता है


एक ऐसा राज्य जहा प्रकृति की लाजवाब सुन्दरता और खूबसूरती से घिरा हुआ प्रदेश यहाँ हर तरफ बर्फ हि बर्फ हो, बादलों को छुती हुई बर्फ से ढकी पर्वत की चोटिया, तंग घाटियां ऐसे दृश्य जो मन को छु जाये , जिसे देख कर आप यूरोप के स्विट्जरलैंड को भूल जाये ऐसा है भारत का सिक्किम ।

दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी “माउंट कंचनजंघा” को यहाँ से देखने का आनन्द हि कुछ अलग होता है जब सूर्योदय के समय सूर्य की किरणे सुनहरी होकर धरती पर गिरती है वो नजारा देखने लायक होता है ।

भारत का स्विट्जरलैंड – जिसकी ये जगहें मोह लेंगी आपका मन

पहाडों की खुबसुरत वादिया जो आसमान को अपनी बाहों में लिए हुए , बर्फ से ढकी हुई पर्वत की चोटिया ऐसे मनोरम दृश्य जो सैलानियों को अपनी और खींचती है एसा है भारत का स्विट्जरलैंड ।

1 – गंगटोक

सिक्किम की राजधानी गंगटोक शहर जो पहाडियों की ढाल पर बसा हुआ है, जहा परआप को वर्तमान जीवनशैली के साथ साथ पारंपरिक रीति-रिवाजों का भी एक अनोखा संगम देखने को मिलेगा । गंगटोक शहर बहुत हि खुबसुरत है ।

2 – युकसोम

कहा जाता है की सिक्किम का इतिहास युकसोम शहर से प्रारम्भ हुआ था इस कारण से इस शहर को पवित्र माना जाता है । ये सिक्किम की पहली राजधानी भी थी ।

3 – सोमगो लेक

सोमगो लेक को यहाँ के लोग बहुत हि पवित्र मानते है, इस झील की लम्बाई लगभग 1 km है । सर्दियों के मोसम में झील का पानी जम जाता है और गर्मी के मई माह से अगस्त माह के बिच सोमगो लेक के आस पास का नजारा बेहद हि खुबसुरत हो जाता है । इस झील का आकार अंडाकार है।

4 – नाथुला दर्रा

नाथुला दर्रा की पहाड़ियां धुंध से ढंकी हुई यहाँ के टेढ़े-मेढ़े रास्ते जो देखने में बेहद हि खुबसूरत है। 14,200 फीट की ऊंचाई पर भारत-चीन सीमा पर स्थित है । जहा पर घुमने जाने के लिए आप को परमिट की जरुरत पड़ती है।

5 – पेलिंग

6,800 फीट की ऊंचाई पर स्थित पेलिंग सैलानियों के घुमने की प्रिय जगह बनता जा रहा है । यहाँ से माउंट कंचनजंघा को सबसे नजदीकी से देखा जा सकता है

6 – रूमटेक मोनास्ट्री

सिक्किम के टॉप के पर्यटन स्थलों में से एक रूमटेक मोनास्ट्री मठ है जो काफी भव्य दिखता है, इस मठ का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा गोल्डन स्तूप ।

7 – दो-द्रूल चॉर्टेन


सिक्किम का दो-द्रूल चॉर्टेन सबसे खूबसूरत स्तूपों में से एक है


कैसे पहुंचे सिक्कम ?

भारत का खुबसूरत प्रदेश जिसे इंडिया का स्विट्जरलैंड कहते है, यहाँ पर घुमने जाने के लिए गर्मियों का मोसम सबसे बेहतर माना जाता है

1 – हवाई मार्ग से

हवाई मार्ग से जाने के लिए आप को पश्चिम बंगाल में बागडोगरा एयरपोर्ट जो सिलिगुड़ी के पास है जो सिक्किम की राजधानी गंगटोक से करीबन 125 km की दुरी पर बना हुआ है वहा जाना पड़ेगा और वहा से सड़क मार्ग से होते हुए सिक्किम पंहुचा जा सकता है क्यों की सिक्किम में कोई एयरपोर्ट नहीं है ।

2 – सड़क मार्ग से

यहाँ पर सड़क मार्ग बने हुए है और पश्चिम बंगाल से भी यहाँ जा सकते है, दार्जीलिंग, कलिमपोंग, सिलिगुड़ी, गंगटोक और राज्य के अन्य शहरों से सीधा सडक मार्ग से जुड़ा हुआ हैं।

3 – रेल मार्ग से

यहाँ पर रेल लाइन नहीं है , यहाँ पर सबसे पास का रैलवे स्टेशन पश्चिम बंगाल का न्यू जलपाईगुड़ी है ।
ये रैलवे स्टेशन भारत पूर्वोत्तर राज्यों के कई बड़े शहरों से जोड़ता है।

तो देर की किस बात की आइये चलते है भारत का स्विट्जरलैंड देखने जो बसा है बर्फ की चादर लिए हुए प्रकृति की गोद में ।

YOU MAY LIKE