सेक्स के लिए जो स्मार्ट गैजेट्स मार्केट में आए हैं, वे तो क्रांति ही मचा देंगे

तकनीक के आविष्कार ने हमारी जिंदगी को कई तरीकों से बदल दिया है। चाहें मोबाइल का आविष्कार हो, स्मार्टफोन या फिर एप्स का, सभी किसी ना किसी तरह से हमारी जिंदगी का हिस्सा बने हुए हैं। ये सब तो ठीक-ठाक चल ही रहा था कि अब नए वियरेबल गैजेट्स और स्मार्ट गैजेट्स ने जगह बनानी शुरू कर दी।

पहले सेहत के लिए स्मार्ट गैजेट्स आए, फिर अब ये सेक्स के लिए भी आ गए हैं। स्मार्ट ब्रा से लेकर स्मार्ट कन्डोम तक बहुत कुछ है जो आपके लिए उपलब्ध है। डेटिंग एप्स के जमाने में तकनीक ने किस हद तक आपकी पर्सनल जिंदगी और खास तौर पर सेक्स के मामले में?

स्मार्ट कन्डोम, डिजिटल सेक्स, सेक्स गैजेट्स
स्मार्ट कन्डोम, डिजिटल सेक्स, सेक्स गैजेट्स
Loading...

एक ब्रिटिश कंपनी ने स्मार्ट कंडोम बना डाला है। अब इसकी क्या जरूरत पड़ गई? इस सवाल का जवाब भी कंपनी ने दिया है। ब्रिटिश कंडोम कंपनी के अनुसार ये कंडोम सेक्‍स की परफॉर्मेंस नापेगा। इसके अलावा, कितनी कैलोरी बर्न हुई और सेक्‍स से जुड़ी हर बात का डेटा दिया जाएगा। जो शायद अजीब लगे। लेकिन है दिलचस्‍प।

ये फिटबिट फिटनेस ट्रैकर की तरह ही है। बस इसे कलाई की जगह कहीं और पहनना है। ये असल में कंडोम नहीं बल्कि एक रिंग है जिसे कंडोम के ऊपर पहनना होगा। वियरेबल टेक अनोखे लेवल पर पहुंच चुकी है।स्मार्ट कन्डोम, डिजिटल सेक्स, सेक्स गैजेट्स

वियरेबल सेक्स गैजेट का मतलब…
वियरेबल सेक्स गैजेट का मतलब ऐसा कोई भी गैजेट जिसे सेक्स करते समय पहना जा सके। ये आपके निजी पलों से जुड़ी जानकारी को आप तक ही पहुंचाते हैं। इसमें आपकी कितनी कैलोरी बर्न हुई, सेक्‍स के दौरान कितनी ताकत लगाई जा रही थी, पिछले कुछ समय में कितनी बार सेक्‍स किया गया, कितनी अलग अलग पोजिशन से सेक्‍स किया गया, सबसे ज्यादा मजा किस पोजीशन में आया और ऐसे ही कई सवालों के जवाब देंगे जिसे आप सोशल मीडिया पर शेयर भी कर सकेंगे या फिर पार्टनर को दिखा सकेंगे। अब इसे तकनीक का मजाक कहें या फिर इसका अनूठा आविष्कार ये तय करना थोड़ा मुश्किल है। हालांकि, इन वियरेबल गैजेट्स की मदद से STD (सेक्शुअल ट्रान्समिटिड डिसीज) का खतरा कम हो जाएगा। कारण ये कि ये डिवाइस आपकी और आपके पार्टनर की सेहत के बारे में सारी जानकारी देंगे।

सेक्स और तकनीक का अनूठा संगम…
एक और बात बता दूं आपको … इस मामले में बाकायदा रिसर्च की गई है और इंडियाना यूनिवर्सिटी के किंसे इंस्टिट्यूट और बर्लिन स्थित वुमेंस हेल्थ स्टार्टअप कंपनी क्लू ने एक सर्वे किया। इसमें 67% लोगों ने कहा कि वो सेक्सटिंग करते हैं। 2012 में ये आंकड़ा 21% था।

स्मार्ट कन्डोम, डिजिटल सेक्स, सेक्स गैजेट्स

सेक्स बना डिजिटल सेक्स…
सेक्स की परिभाषा ही अब बदलती जा रही है। सेक्सटिंग, स्काइपिंग, न्यूड फोटोज, स्नैपचैटिंग, न्यूड वीडियो आदि का चलन कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है। हो सकता है आपके घर में या हॉस्टल में बगल वाले कमरे या घर में कोई किसी के साथ न्यूड वीडियो चैट कर रहा हो। सेक्स से पहले की सेल्फी, वीडियो चैट, सेक्सटिंग आदि सब वाकई में डिजिटल सेक्स बन चुका है।

सेक्स डॉल्स, वाइब्रेटर वाले सेक्स टॉयज आदि का समय तो पुराना हो गया है। अब तो समय वो है जब बाकायदा सेक्स बॉट यानि सेक्स रोबोट बनने लगे हैं। आपकी चैटिंग के लिए सेक्सी चैटबोट का आविष्कार तो बहुत पहले ही हो चुका था, लेकिन सेक्स रोबोट कुछ नया है। cnet की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस साल के अंत तक Abyss क्रिएशन्स नाम की एक कंपनी है जो सेक्स डॉल्स बनाती है। इस कंपनी के प्रोडक्ट का नाम है रियल डॉल्स। कंपनी अपने इस प्रोडक्ट को हर कस्टमर के हिसाब से बनाती है। साथ ही इस साल के अंत तक उसमें कोई सॉफ्टवेयर डालने की भी बात की जा रही है जिससे गुड़िया असली महिलाओं की तरह रिस्पॉन्स भी देंगी।

स्मार्ट कन्डोम, डिजिटल सेक्स, सेक्स गैजेट्स

चीन, जापान, रशिया, अमेरिका हर जगह अब सेक्स रोबोट या सेक्स वियरबेल की मांग तेजी से बढ़ रही है। दुनिया की एकलौती बोलने वाली सेक्स डॉल हार्मनी 2।0 में तो 18 तरह की पर्सनैलिटी है। वो समय जहां लोग अब वर्चुअल दुनिया को ज्यादा तवज्जौ देने लगे हैं उस समय अब लोग सेक्स जैसी चीज के लिए भी दूसरे इंसान से अपनी कन्नी काटने लगे हैं। पोर्न, सेक्सटिंग के बाद अब सेक्स डॉल जिस तरह से तेजी से बढ़ी हैं वो देखकर लगता है कि आने वाले समय में इसी तकनीक को और विकसित किया जाएगा। अब खुद ही सोच लीजिए ऐसी गुड़िया जिसके साथ जो चाहे कर सकें, वो आपकी अपनी पर्सनल सेक्स स्लेव की तरह हो।

डिजिटल सेक्स का एक रूप खतरनाक भी हो सकता है। ये सनक की हद तक जा सकता है। चीन में एक इंसान ने सेक्स डॉल से शादी कर ली, एक दूसरा इंसान इसे अपनी बेटी की तरह मानता है, सेक्स डॉल रिपेयर करने वाले एक शख्स स्लेड फ़ियरो, जो सेक्स डॉल्स को रिपेयर करने का काम करते थे। उन्होंने सेक्स डॉल्स की इतनी बुरी हालत देखी कि वो इंसानियत पर ही शक करने लगे।

आगे क्या होगा…
अब आगे क्या होगा? सेक्स डॉल्स, सेक्सटिंग, न्यूड वीडियो चैटिंग ये सब अब पुराना होने लगा है। सेक्स और तकनीक का मिलाजुला रूप आगे और भी आविष्कार कर सकता है। स्मार्ट कन्डोम, स्मार्ट अंडरवियर, स्मार्ट ब्रा के साथ स्मार्ट सेक्स टॉएज भी आएंगे। स्मार्ट वाइब्रेटर जो ये ध्यान रखें कि आप कब अपने चरम पर हैं और कब आपके लिए सबसे सेहतमंद सेक्स होगा। रबर के सेक्स टॉएज जिनमें फ्यूचर में सेक्स और तकनीक का एक नया रूप ही देखने को मिल सकता है।

 

YOU MAY LIKE
Loading...