जानिएं कब और कैसे शुरु हुआ इस्लाम धर्म!

इस्लाम की शुरुआत सातवीं सदी में सउदी अरब से बताई जाती है। इस वजह से इस्लाम को दुनिया के सबसे नए धर्मों में गिना जाता है। पैंगंबर मोहम्मद ने इस्लाम की शुरुआत 610 ईसवी में की थी। पैगंबर मोहम्मद ने दुनिया को क़ुरआन से रूबरू कराया।


हालांकि कई लोगों का यह भी मानना है कि इस्लाम पैगंबर मोहम्मद के जन्म से कई साल पहले ही दुनिया में आ गया था। क़ुरआन भले ही पैगंबर मोहम्मद ने सुनाई, मगर क़ुरआन अपनी शुरुआत उनके साथ नहीं जोड़ती। क़ुरआन में इस बात का सबूत है कि फरिश्ते जिब्राइल ने अल्लाह का संदेश मोहम्मद को दिया।

पैगंबर मोहम्मद का जन्म 570 ईसवी में मक्का में हुआ। उनके वालिदैन का नाम अब्दुल्लाह और अमिनाह बताया जाता है। सिर से वालिदैन का साया कम उम्र में ही उठ गया था। फिर उनके चाचा ने उन्हें अपने साथ रखा। 25 साल की उम्र में उनका निकाह 40 साल की खादिडजाह के साथ हुआ। उनके दो बेटे और 4 बेटियां थी।

शुरु में उन्होंने अपनी नई ‘बातें’ सिर्फ़ अपने रिश्तेदारों और करीबियों को बताई। उसके बाद तीन साल में वो मक्का में फैल गईं। कहा जाता है कि अल्लाह नें पैगंबर मोहम्मद को आदेश दिया कि वो उनकी ज़ुबान दुनिया भर में फैलाएं और मक्का में बुतपरस्ती और मूर्ति-पूजन को रोकें। धीरे-धीरे इस्लाम मक्का से मदीना की ओर बढ़ा। उन्होंने काबा को अल्लाह की इबादत के लिए चुना। 632 ईसवी में 63 साल के पैगंबर मोहम्मद का इंतकाल हो गया मगर इस्लाम आगे बढ़ता गया।

पैग़ंबर मोहम्मद के बाद ख़लीफ़ा अबु बक्र ने इस्लाम को आग बढ़ाया। 644 ईस्वी तक इस्लाम सउदी अरब से निकल कर सीरिया, ईरान, इराक़, इजिप्ट तक पहुँच गया। आज दुनिया का हर पांचवा शख्स इस्लाम को मानता है।