गुरु गोबिंद सिंह के अनमोल विचार Guru Gobind Singh Quotes in Hindi

165
Loading...

Quote 1: अगर आप केवल भविष्य के बारे में सोचते रहेंगे तो वर्तमान भी खो देंगे.

Quote 2: जब आप अपने अन्दर से अहंकार मिटा देंगे तभी आपको वास्तविक शांति प्राप्त होगी.

Loading...

Quote 3: मैं उन लोगों को पसंद करता हूँ जो सच्चाई के मार्ग पर चलते हैं.

यह भी पढिये – पंचतंत्र की कहानी -व्यापारी का पतन और उदय -मित्रभेद Fall And Rise Of The Merchant-Panchatantra Hindi Stories

Quote 4: ईश्वर ने हमें जन्म दिया है ताकि हम संसार में अच्छे काम करें और बुराई को दूर करें.

Quote 5: इंसान से प्रेम ही ईश्वर की सच्ची भक्ति है.

Quote 6: अच्छे कर्मों से ही आप ईश्वर को पा सकते हैं. अच्छे कर्म करने वालों की ही ईश्वर मदद करता है.

Quote 7: जो कोई भी मुझे भगवान कहे, वो नरक में चला जाए.

Quote 8: मुझे उसका सेवक मानो. और इसमें कोई संदेह मत रखो.

Quote 9: जब बाकी सभी तरीके विफल हो जाएं, तो हाथ में तलवार उठाना सही है.

http://www.gajabdunia.com Guru-Gobind-Singh
http://www.gajabdunia.com Guru-Gobind-Singh

Quote 10: असहायों पर अपनी तलवार चलाने के लिए उतावले मत हो, अन्यथा विधाता तुम्हारा खून बहायेगा.

Quote 11: उसने हेमशा अपने अनुयायियों को आराम दिया है और हर समय उनकी मदद की है.

Quote 12: हे ईश्वर मुझे आशीर्वाद दें कि मैं कभी अच्छे कर्म करने में संकोच ना करूँ.

यह भी पढिये – कथा महाभारत की- कीचक वध की कथा Mahabharata The story of the killer slaughter in Hindi

Quote 13: ये मित्र संगठित हैं, और फिर से अलग नहीं होंगे, उन्हें स्वयम सृजनकर्ता भगवान् ने एक किया है.

Quote 14: सबसे महान सुख और स्थायी शांति तब प्राप्त होती है जब कोई अपने भीतर से स्वार्थ को समाप्त कर देता है.

Quote 15: दिन-रात, हमेशा ईश्वर का ध्यान करो.

Quote 16: हर कोई उस सच्चे गुरु की जयजयकार और प्रशंसा करे जो हमें भगवान की भक्ति के खजाने तक ले गया है.

Quote 17: भगवान के नाम के अलावा कोई मित्र नहीं है, भगवान के विनम्र सेवक इसी का चिंतन करते और इसी को देखते हैं.

Quote 18: आपने ब्रह्माण्ड की रचना की, आप ही सुख-दुःख के दाता हैं.

Quote 19: आप स्वयं ही स्वयं हैं, अपने स्वयं ही सृष्टि का सृजन किया है.

http://www.gajabdunia.com Guru-Gobind-Singh
http://www.gajabdunia.com Guru-Gobind-Singh

Quote 20: सत्कर्म कर्म के द्वारा, तुम्हे सच्चा गुरु मिलेगा, और उसके बाद प्रिय भगवान मिलेंगे, उनकी मधुर इच्छा से, तुम्हे उनकी दया का आशीर्वाद प्राप्त होगा.

Quote 21: सच्चे गुरु की सेवा करते हए स्थायी शांति प्राप्त होगी, जन्म और मृत्यु के कष्ट मिट जायेंगे.

Quote 22: अज्ञानी व्यक्ति पूरी तरह से अंधा है, वह मूल्यवान चीजों की कद्र नहीं करता है.

यह भी पढिये – महाभारत कर्ण पर्व की कथा भाग – 8 Mahabharat Karna Parv Stories In Hindi

Quote 23: ईश्वर स्वयं क्षमाकर्ता है.

Quote 24: बिना गुरु के किसी को भगवान का नाम नहीं मिला है.

Quote 25: बिना नाम के कोई शांति नहीं है.

Quote 26: मृत्यु के शहर में, उन्हें बाँध कर पीटा जाता है, और कोई उनकी प्रार्थना नहीं सुनता है.

Quote 27: जो लोग भगवान के नाम पर ध्यान करते हैं, वे सभी शांति और सुख प्राप्त करते हैं.

http://www.gajabdunia.com Guru-Gobind-Singh
http://www.gajabdunia.com Guru-Gobind-Singh

Quote 28: मैं उस गुरु के लिए न्योछावर हूँ, जो भगवान के उपदेशों का पाठ करता है.

Quote 29: सेवक नानक भगवान के दास हैं, अपनी कृपा से, भगवान उनका सम्मानसुरक्षित रखते हैं.

Quote 30: स्वार्थ ही अशुभ संकल्पों को जन्म देता है.

YOU MAY LIKE
Loading...