इस शादी में दुल्हा अजीब है – प्रथा या अंधविश्वास

0
41

हमारी जिंदगी में हमारे बड़े-बुजुर्ग बहुत अहमियत रखते हैं, वे जानते हैं कि हमारे लिए क्या महत्वपूर्ण है व किस चीज से हमें खतरा हो सकता है। लेकिन कई ऐसी बातें हैं जिन्हें लेकर बुजुर्गों के दीमाग पर एक प्रश्नचिन्ह लग जाता है। तब ऐसा लगता है कि उनके दीमाग को किसी ने बंद कर दिया है व चाबी फेंक दी है। कुछ ऐसा ही हुआ है भारत के एक राज्य झारखंड के छोटे से गांव में जहां गांव के बड़े-बुजुर्गों का सम्मान रखते हुए क्या-क्या नहीं कर डाला इस लड़की ने।



अंधविश्वास इसे कहते हैं

झारखंड के एक छोटे से गांव में मंगली मुंडा नाम की 18 वर्ष एक लड़की रहती है। गांव में ही रहने वाले एक बाबा का कहना है कि मंगली पर एक काला साया मंडरा रहा है जिससे उसका निजात पाना आनिवार्य है नहीं तो उसके परिवार वालों के लिए यह भयंकर साबित हो सकता है। इस दिक्कत के कारण मंगली की शादी में भी बाधा आ सकती है। बाबा ने मंगली पर बेकाबू हो रहे काले साए को हटाने का जो उपाय बताया है उसे सुन कोई भी ठहाके मारकर हंसने लगे।

कुत्ते से करा दी शादी

एक लड़की की कुत्ते से शादी करना अपने-आप में ही विचित्र बात है। गांव के बाबा का कहना है कि यदि मंगली की इस दिक्कत का उपाय निकाले बिना उसकी शादी कर दी गई तो उसके परिवार पर बहुत बड़ा संकट आ सकता है। इसका समाधान निकालते हुए बाबा ने कहा कि मंगली की शादी एक कुत्ते से कर दी जाए। बाबा के अनुसार बुरे भाग्य से जूझ रही मंगली की शादी कुत्ते से करते ही उसका भाग्य उज्जवल हो जाएगा और वो सभी दिक्कतों से दूर हो जाएगी।

धूमधाम से की शादी

मंगली के बुरे वक्त को दूर करने के लिए उसके पिता ने जल्द से जल्द उसका विवाह एक गली के कुत्ते ‘शेरू’ से करने का फैसला किया। यह विवाह कोई आम विवाह नहीं था बल्कि इसे बड़े ही धूमधाम से पूरे गांव के सामने किया गया। पूरे गाजे-बाजे के साथ शेरू का एक दुल्हे के रूप में स्वागत किया गया और उसे मंडप में बैठाया गया। शादी में हर रीति-रिवाज का पूरी तरह से ध्यान रखा गया। यदि आपको आंकड़े बताएं तो कम से कम 70 रिश्तेदारों ने मंगली के विवाह को देखा व वर-वधु को आशीर्वाद भी दिया।

आमतौर पर गांव में होने वाले विवाह में जो खर्च किया जाता है ठीक उसी तरह से इस अजीबोगरीब शादी पर भी खर्च किया गया। गांव वालों का कहना है कि ऐसी शादी पर जितने मन से काम किया जाए उतनी ही जल्दी काले साए से मुक्ति पाई जा सकती है।

यह ऐसी पहली शादी नहीं है

जी हां, झारखंड के इस गांव में आपको आमतौर पर इस तरह का अंधविश्वास देखने को मिल जाएगा। यहां आएदिन नाबालिग लड़कियों को भूत-प्रेत का हवाला देते हुए गली के कुत्ते के साथ उनकी शादी कर दी जाती है। हैरत की बात यह है कि ऐसी शादियों में कोई भी उदास नहीं होता, बल्कि सब खुशी से शादी में आते हैं। गांव के लोग मानते हैं कि इस तरह के विवाह लड़की के अच्छे के लिए ही किया जा रहा है।

शादी के बाद
भारत में एक तरह का रिवाज है कि शादी के बाद लड़की को लड़के के साथ उसके घर में ही रहना होता है, तो यहां भी ऐसा ही होगा बस फर्क इतना है कि यहां मंगली शेरू को अपना पति मानते हुए अगले कुछ महीनों तक उसकी सेवा करेगी। उसे उसको एक पालतू जानवर की तरह रखना होगा व उसका पूरा-पूरा ध्यान भी रखना होगा।

भारत के हर कोने में कुछ न कुछ विचित्र घटना आएदिन घटती रहती है। कभी-कभी इस बात को पचाना मुश्किल हो जाता है कि हम ऐसे देश में रह रहे हैं जहां एक ओर हमारे प्रधानमंत्री उच्च तकनीक व रफ्तार की बाते करते हैं, वहीं दूसरी ओर जगह-जगह पर इस तरह का अंधविश्वास व दकियानूसी बाते हमे हजारों साल पीछे ढकेलती है।

 

source : jagranjunction

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here