इस पत्थर के पास आग जलाते ही मिलने लगता है WiFi सिग्नल

जर्मनी के न्यूएनकिर्चेन में एक ऐसा म्यूजियम है जहां पर लकड़ी जलाकर वाईफाई सिग्नल हासिल किया जाता है। यह आउटडोर स्कल्पचर्स का म्यूजियम है। यहीं पर एक पत्थर के भीतर वाईफाई राउटर लगाया गया है, लेकिन वह तभी चलता है जब आग लगाई जाए।


क्यों होता है ऐसा…
दरअसल, पत्थर के भीतर एक थर्मोइलेक्ट्रिक जेनरेटर लगाया गया है जिसमें गर्मी को इलेक्ट्रिसिटी में बदलने की क्षमता है। यहीं वजह है कि आग लगाने पर वाईफाई राउटर को बिजली मिलने लगती है और सिग्नल जेनरेट होने लगता है। पत्थर का वजन करीब 1.5 टन है और इस आर्टवर्क को कीपएलाइव नाम दिया गया है। इसे एरम बर्थोल नाम के शख्स ने बनाया है।

वाईफाई जेनरेटर की फोटो सोशल साइट पर काफी शेयर की जा रही है और कई लोग इसे अनोखा बता रहे हैं। यहां आने वाले विजिटर्स को खुद आग लगाकर वाईफाई सिग्नल जेनरेट करने को कहा जाता है। विजिटर्स इस वाईफाई से अपने फोन को भी कनेक्ट कर सकते हैं।

source: hyperallergic
YOU MAY LIKE